समीर वानखेड़े की मुश्किलें बढ़ीं, अब दलित संगठनों ने भी खोला मोर्चा, कहा- NCB डायरेक्टर के कागजातों की होनी चाहिए जांच

ताजा मामला ये है कि दलित संगठनों ने भी समीर वानखेड़े के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। दलित संगठनों का कहना है कि केवल नौकरी पाने के लिए समीर ने खुद को SC बताया था और उन्होंने फर्जी कागज दिखाए थे।

Sameer Wankhede
जब आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था, उसके बाद से ही देश में 2 पक्ष हो गए थे, एक पक्ष वो था जो आर्यन के सपोर्ट में खड़ा था और समीर वानखेड़े के खिलाफ था। दूसरा पक्ष समीर के समर्थन में था। (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

ड्रग्स केस में बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद से एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े विवादों में हैं। हालांकि अब आर्यन को जमानत मिल चुकी है, लेकिन समीर वानखेड़े की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं।

दरअसल जब आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था, उसके बाद से ही देश में 2 पक्ष हो गए थे, एक पक्ष वो था जो आर्यन के सपोर्ट में खड़ा था और समीर वानखेड़े के खिलाफ था। दूसरा पक्ष समीर के समर्थन में था और कार्रवाई को जायज ठहरा रहा था।

ताजा मामला ये है कि दलित संगठनों ने भी समीर वानखेड़े के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। दलित संगठनों का कहना है कि केवल नौकरी पाने के लिए समीर ने खुद को SC बताया था और उन्होंने फर्जी कागज दिखाए थे।

समीर के खिलाफ ये आरोप भीम आर्मी और स्वाभिमानी रिपब्लिक आर्मी ने लगाए हैं। इन संगठनों ने जिला जाति जांच समिति के पास शिकायत भी दर्ज करवाई है।

बता दें कि हालही में समीर वानखेड़े ने दिल्ली स्थित अनुसूचित जाति-जनजाति आयोग के ऑफिस में अपना जाति प्रमाण पत्र दिया था। इस दौरान उन्होंने अपनी पहली पत्नी से हुए बच्चे का बर्थ सर्टिफिकेट और तलाक के कागज भी दिए थे। अभी इन कागजों की जांच की जा रही है।

समीर वानखेड़े के ऊपर लग रहे तमाम आरोपों के बीच उनके पिता ने उनका बचाव किया है। समीर के पिता का कहना है कि वह दलित हैं और उनका बेटा भी दलित है। उनका मुस्लिम धर्म से कोई लेना-देना नहीं है।

कुछ समय पहले मलिक ने समीर वानखेड़े का निकाहनामा साझा किया था। जिसके बाद एक काजी ने सामने आकर ये दावा किया कि समीर वानखेड़े पहले मुस्लिम थे और साल 2006 में उनका निकाहनामा इसी काजी ने पढ़वाया था। काजी का नाम मुजम्मिल अहमद बताया जा रहा है। मलिक ने आरोप लगाया था कि समीर फर्जी कास्ट सर्टिफिकेट बनवाकर आईआरएस अधिकारी बने और एक दलित का अधिकार छीन लिया।

नवाब मलिक ने ये भी कहा था कि क्रूज में अंतरराष्ट्रीय ड्रग माफिया भी था। दाढ़ी वाले और समीर वानखेड़े का कुछ संबंध है। दाड़ी वाला समीर वानखेड़े का दोस्त है। क्रूज के सारे सीसीटीवी निकलवाएं, सब पता चल जाएगा।

नवाब मलिक ने ये भी दावा किया कि अगर समीर वानखेड़े के कॉल डीटेल और सीसीटीवी से सबूत निकाले जाएं तो सारा सच सामने आ जाएगा और अगर वो गलत साबित हुए तो वे राजनीति छोड़ देंगे।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट