scorecardresearch

संबित पात्रा ने खुद को बताया था ‘2000 बैच का UPSC टॉपर जब थी UPA सरकार’, कांग्रेस नेता ने अटल बिहारी वाजपेयी को याद कर कही ये बात

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक समाचार चैनल के कार्यक्रम में अपनी योग्यताओं को बताते हुए खुद को डॉक्टर के अलावा यूपीएससी का रैंक होल्डर भी बताया था।

संबित पात्रा ने खुद को बताया था ‘2000 बैच का UPSC टॉपर जब थी UPA सरकार’, कांग्रेस नेता ने अटल बिहारी वाजपेयी को याद कर कही ये बात
बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक समाचार चैनल के कार्यक्रम में अपनी योग्यताओं को बताते हुए खुद को डॉक्टर के अलावा यूपीएससी का रैंक होल्डर भी बताया था। उनके इस बयान पर छिड़ा विवाद लगभग एक हफ्ते बाद भी शांत नहीं हो पाया है। अब उनके दावे पर कांग्रेस नेता ने एक बार फिर घेराव किया है। इंडियन यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने ट्विटर पर इस विवाद की ठंडी होती आंच को एक बार फिर हवा देते हुए पूरे वीडियो का एक छोटा सा हिस्सा साझा किया, जहां पात्रा खुद को UPSC का टॉपर बताने के साथ साथ यह भी कह रहे हैं कि 2000 में यूपीए की सरकार थी।

इस हिस्से को साझा करते हुए श्रीनिवास ने लिखा तथाकथित UPSC के 2000 batch के Topper के अनुसार सन 2000 में UPA की सरकार थी। यहां उन्होंने पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए लिखा कि स्व अटल बिहारी वाजपेयी जी हम शर्मिंदा हैं। आजतक के एजेंडा कार्यक्रम में संबित पात्रा ने कांग्रेस के कन्हैया के सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि UPSC के 2000 बैच का 19th रैंक होल्डर हूं। उस समय यूपीए की सरकार की थी, कोई बीजेपी की सरकार नहीं थी जो मुझे किसी ने ऐसे ही यूपीएससी में घुसा दिया हो। उन्होंने आगे कहा कि जो लोग 50-50 साल तक थिसिस करते हैं, हमारे पैसे पर पलते हैं, वो यूपीएससी से पूछेंगे कि तुम्हारी क्वालिफिकेशन क्या है।

अब इस बार उन्हें ट्रोल किए जाने का कारण उनकी जुबान से निकला वाक्य ‘साल 2000 में यूपीए की सरकार थी’ है। जबकि यूपीए का कार्यकाल 2004 से शुरू हुआ, 1999 से 2004 तक सत्ता पर भारतीय जनता पार्टी काबिज थी और प्रधानमंत्री पद पर भाजपा के सर्वोच्च नेता अटल बिहारी वाजपेयी विराजमान थे। यह पहला मौका नहीं है जब संबित पात्रा को उनके इस बयान को लेकर ट्रोल किया जा रहा हो। इससे पहले भी उन्हें उनकी रैंक को लेकर निशाने पर लिया गया था। जिस पर बीजेपी नेता ने सफाई भी दी थी।

संबित पात्रा ने अपने दावे का बचाव करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, “सीएसई के अलावा यूपीएससी सीएमएस परीक्षा का भी आयोजन करता है। मुझे लगता था कि ‘पढ़े लिखे’ इसे जानते होंगे, लेकिन ऐसा लगता है कि कुछ इस तथ्य से बेखबर हैं।”

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट