ताज़ा खबर
 

ओडिशाः गांव-गांव जन संपर्क की अपनी इन तस्‍वीरों पर ट्रोल हुए संब‍ित पात्रा

पात्र ने तस्वीर शेयर करते हुए लिखा "पूरी लोकसभा के पिपिली विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत डेलांग ब्लॉक, जेनापुर पंचायत के देवपुरसँ (पाणि सही) गांव में जन संपर्क करते हुए।"

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: November 13, 2020 3:36 PM
sambit patra, BJP, congress, bihar, TV debate, national news, jansatta, news18india, jansatta news, latest news news about india, trending newsपात्रा इन तसवीरों में फेस शील्ड लगाकर लोगों से मिल रहे हैं। (twitter)

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट से अपने पूरी लोकसभा के पिपिली विधानसभा क्षेत्र के दौरे की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं। पात्रा इन तसवीरों में फेस शील्ड लगाकर लोगों से मिल रहे हैं। इन तसवीरों को शेयर करते ही यूजर्स ने उन्हें निशाने पर ले लिया और ट्रोल करने लगे।

पात्र ने तस्वीर शेयर करते हुए लिखा “पूरी लोकसभा के पिपिली विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत डेलांग ब्लॉक, जेनापुर पंचायत के देवपुरसँ (पाणि सही) गांव में जन संपर्क करते हुए।” पात्रा ने एक और ट्वीट किया। इसपर उन्होने लिखा “पुरी लोकसभा की पिपिली विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत डेलांग ब्लॉक, जेनापुर पंचायत के चन्द्रकोट गांव में जन संपर्क अभियान करते हुए।”

उनके इन ट्वीट्स पर यूजर्स ने उन्हें ट्रोल भी किया है। एक यूजर ने लिखा “वो सब तो ठीक है संबित पात्रा जी लेकिन पहले 5 ट्रिलीएम में कितने 0 होते है? जरा ये बताईये।” एक ने लिखा “जिनकी रैलियों में कुर्सियां खाली थीं वो जीत गए ! जिनकी रैलियों में लाखों की भीड़ थी वे हार गए !!” एक यूजर ने लिखा “गोदी मीडिया के अनुसार बिहार में मोदी लहर चली। जबकि बिहार चुनाव में आरजेडी सबसे ज़्यादा सीटें जीतकर व वोट पाकर सबसे बड़ी पार्टी बनी। RJD को कुल 97,36,242 वोट जबकि, BJP को कुल 82,01,408 वोट मिले। तो ये है तुम्हारी मोदी लहर? मुझे तुम पर दया आती हैं।”

वहीं इससे पहले पात्रा ने कांग्रेस पर तंज़ कसते हुए कहा था की कांग्रेस कह रही है कि एनडीए ने चुनाव आयोग को खरीद लिया। इवीएम मशीन में गड़बड़ी का आरोप लगाया गया। हम पर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को सीमांचल में चुनाव लड़वाने का आरोप लगा। ओवैसी की वजह से ही वो चुनाव हार गए।

संबित पात्रा ने कहा कि 17-18 सीटें जीतने वाली पार्टी ने 70 सीटों पर चुनाव लड़ा जो सबसे कम स्ट्राइक रेट है। उन्होंने कहा कि ओवैसी की पार्टी ने कांग्रेस की जीत का स्ट्राइक रेट सबसे कम कर दिया। वो पार्टी जो किसी जमाने में देश की नंबर वन पार्टी थी। अब पार्टी के व्यवहार से सवाल उठता है कि ये भारत के ऊपर शासन करने योग्य भी हैं या नहीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लॉटरी का फाइनल रिजल्ट जारी, यहां चेक कीजिए किस नंबर की लगी कितने रुपए की लॉटरी
2 Coronavirus Vaccine की दिशा में 1 और कदम, ‘कोविशील्ड’ के तीसरे चरण के चिकित्सीय परीक्षण के लिए नामांकन पूरा
3 Congress को वायरस जैसा बता शो में बोले BJP के नेता- सोनिया गांधी माता की जय हो…देखें क्या मिला जवाब
यह पढ़ा क्या?
X