ताज़ा खबर
 

सरकार बोली- घुसपैठ के मामलों में 43 प्रतिशत की कमी आई, सपा नेता ने कहा- तो पिछले चार साल में सबसे ज्यादा लोग मारे क्यों गए

सपा नेता ने कहा है कि 'अगर घुसपैठ कम हुई है तो मैं ये जानना चाहता हूं कि पिछले चार साल में सबसे ज्यादा लोग मारे क्यों गए।'

Samajwadi Party, Ram Gopal Yadav, Infiltration, loc, modi government, surgical strike, air strike, pakistan, nityanand raiराम गोपाल यादव। फोटो: फाइनेंनशियल एक्सप्रेस

केंद्र सरकार ने मंगलवार (9 जुलाई 2019) को लोकसभा में जानकारी दी कि घुसपैठ के मामलों में 43 प्रतिशत की कमी आई है। सरकार ने दावा किया कि पाकिस्तान के आतंकी शिविरों पर सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से ही इसमें कमी आई है। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने यह जानकारी दी। सरकार के इस दावे पर समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ  नेता राम गोपाल यादव ने सवाल खड़े किए हैं।

सपा नेता ने कहा है कि ‘अगर घुसपैठ कम हुई है तो मैं ये जानना चाहता हूं कि पिछले चार साल में सबसे ज्यादा लोग मारे क्यों गए।’ संसद की कार्यवाही में हिस्सा लेने के बाद मीडिया से बातचीत में सपा नेता ने यह बयान दिया। पत्रकार ने उनसे पूछा कि सरकार घुसपैठ के मामलों में 43 प्रतिशत की कमी का जिक्र कर अपनी पीठ थपथपा रही है। आप इसपर क्या कहना चाहेंगे। इस सवाल पर राम गोपाल यादव ने कहा कि अगर ऐसा है तो पिछले चार साल में सबसे ज्यादा लोग मारे क्यों गए।

दरअसल संसद में एक सवाल का जवाब देते हुए नित्यानंद राय ने बताया है कि जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा परिदृश्य में सुधार हुआ है और पाकिस्तान के आतंकी शिविरों पर र्सिजकल स्ट्राइक के बाद सीमा पर घुसपैठ के मामलों में 43 प्रतिशत की कमी आई है। राय ने जम्मू कश्मीर में सीमापार से घुसपैठ के संबंध में एक पूरक प्रश्न के उत्तर में कहा, ‘सुरक्षा बलों के प्रयासों से इस साल के शुरुआती 6 महीने में 2018 की इसी अवधि की तुलना में राज्य में सुरक्षा हालात में सुधार हुआ है।’ गृह राज्य मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने सीमापार से आतंकवाद के प्रति कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति अपना रखी है।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने राज्य सरकार के साथ मिलकर सीमापार घुसपैठ को रोकने के लिए बहुआयामी उपाय किये हैं। इनमें अंतरराष्ट्रीय सीमा और एलओसी पर बहुस्तरीय तैनाती, सीमा पर बाड़ लगाना तथा खुफिया और परिचालन समन्वय में सुधार शामिल है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आरएसएस का राष्‍ट्रनिर्माण में योगदान- नागपुर विश्वविद्यालय में बीए के सिलेबस में शामिल हुआ संघ का इतिहास
2 कर्नाटक संकट: कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद बोले- बार में बैठकर मुख्यमंत्री तय करती है बीजेपी
3 कर्नाटक के सियासी घटनाक्रम पर लोकसभा में हंगामा, राहुल गांधी ने भी नारे लगाए
ये पढ़ा क्या?
X