ताज़ा खबर
 

Salman Khan Blackbuck Poaching Case: जोधपुर कोर्ट पहुंचे सलमान खान, सजा रद्द करने पर अब 17 जुलाई को सुनवाई

साल 1998 के काला हिरण शिकार मामले में पांच अप्रैल को सलमान को सेशन कोर्ट ने दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा सुनाई थी। उन्होंने इसी के खिलाफ सेशन कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिस पर सोमवार को सुनवाई हुई थी।

बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान। (फाइल फोटो)

बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान काला हिरण शिकार मामले को लेकर आज (सात मई) राजस्थान के जोधपुर कोर्ट पहुंचे। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, 17 जुलाई को अब इस मामले में अगली सुनवाई होगी। एक्टर ने इसी के साथ कोर्ट से दरख्वास्त की कि उन्हें खुद पेश होने से राहत दी जाए। आपको बता दें कि साल 1998 के काला हिरण शिकार मामले में बीते माह (पांच अप्रैल को) सलमान को सेशन कोर्ट ने दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा सुनाई थी। उन्होंने इसी के खिलाफ सेशन कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिस पर सोमवार को सुनवाई हुई थी।

सलमान कोर्ट में पेशी के लिए रविवार (छह मई) दोपहर को जोधपुर पहुंचे थे। एक्टर के साथ इस दौरान उनकी बहन अल्वीरा, बॉडीगार्ड शेरा और कुछ अन्य लोग मौजूद थे। वह हवाई अड्डे से सीधे पांच सितारा होटल ताज विवांता गए थे। सजा के ऐलान के बाद सलमान को दो रातें जोधपुर की सेंट्रल जेल में बितानी पड़ी थीं। हालांकि, बाद में 50 हजार रुपए के जुर्माने पर सलमान को जमानत मिल गई थी। साथ ही शर्त रखी गई थी कि वह मामले के निपटारे तक देश नहीं छोड़ पाएंगे।

जेल से बाहर आने पर सलमान ने अपने फैंस को मुश्किल घड़ी में भी अपार समर्थन देने के लिए शुक्रिया अदा किया था। वहीं, बिश्नोई समाज ने कोर्ट के फैसले का विरोध जताया था। समुदाय के नेता राम निवास बुधनगर का कहना था, “हम फैसले की समीक्षा करेंगे और सलमान की जमानत के साथ अन्य आरोपियों को बरी करने के फैसले को चुनौती देंगे।”

सलमान के अलावा इस मामले में उनके साथी कलाकार सैफ अली खान, नीलम, तब्बू और सोनाली बेंद्रे समेत जोधपुर निवासी दुष्यंत सिंह को भी मामले में आरोपी पाया गया था। लेकिन पर्याप्त सबूत न होने के कारण कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया था। सलमान के वकील निशांत बोरा ने इससे पहले बताया था, “जोधपुर के जिला एवं सत्र न्यायाधीश चंद्रकुमार सोंगरा सोमवार को सजा रद्द करने वाली याचिका पर सुनवाई करेंगे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App