ताज़ा खबर
 

वोटों की राजनीति की देन हैं आज के बाबा

उन्होंने फिल्मी कलाकारों का जिक्र करते हुए कहा जिस तरह से मुंबई में फिल्मी कलाकार एक ही दिन में न जाने कितने भेष धारण करते हैं, वैसे ही ये लोग हैं।

Author जयपुर | September 21, 2017 5:03 AM
भाजपा सांसद साक्षी महाराज (Source: PTI)

भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने गुरुवार को कहा कि राम रहीम और रामपाल जैसे बाबा ‘वोटों की राजनीति’ से ही निकले हैं। ऐसे में राजनेताओं को आत्मचिंतन करना होगा। वहीं महाराज ने एक विवादास्पद टिप्पणी करते हुए कहा कि सार्वजनिक रूप से प्रेम का प्रदर्शन करने वाले जोड़ों को जेल में डाल देना चाहिए। साक्षी महाराज ने भरतपुर में संवाददाताओं से यह बात तब कही जब उनसे यह कहा गया कि आजकल बाबा लोग चर्चा में हैं। उन्होंने कहा कि समय आ गया है कि राजनेता इस बारे में आत्मचिंतन करें ताकि ऐसे बाबाओं पर रोक लग सके। उन्होंने कहा, ‘मुझे बड़ा कष्ट होता है जब ढोंगी लोगों के नाम के पहले आप लोग (मीडिया) बाबा लगाते हैं। राम रहीम और रामपाल बाबा नहीं बल्कि ढोंगी लोग हैं।’ उन्होंने फिल्मी कलाकारों का जिक्र करते हुए कहा जिस तरह से मुंबई में फिल्मी कलाकार एक ही दिन में न जाने कितने भेष धारण करते हैं, वैसे ही ये लोग हैं।  वहीं महाराज ने एक विवादास्पद टिप्पणी करते हुए कहा कि सार्वजनिक रूप से प्रेम का प्रदर्शन करने वाले जोड़ों को जेल में डाल देना चाहिए।

साक्षी ने कहा ‘चाहे मोटरसाइकिल हो, कार हो या पार्क हो जोड़ों को अशालीन व्यवहार करते देखा जा सकता है। वे एकदूसरे का आलिंगन करते हैं जैसे लड़की लड़के को खा जाएगी या लड़का लड़की को खा जाएगा।’ महाराज ने कहा, ‘कुछ गलत होने से पहले ऐसे जोड़ों के खिलाफ कार्रवाई करना और उन्हें जेल में डालना सही होगा।’ उन्होंने पार्क, सार्वजनिक स्थानों और दोपहिया वाहनों पर अश्लील हरकत करने वाले युवक युवतियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। उन्होंने कहा कि जब बलात्कार हो जाता है तो जनता पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की बात करती है।  साक्षी महाराज ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ रही कीमतों को लेकर एक सवाल के जवाब में कहा, ‘जिस तेजी से पेट्रोल और डीजल की दरें बढ़ रही हैं, उससे मैं भी चिंतित हूं। प्रधानमंत्री इस मुद्दे पर चिंतन कर रहे हैं। निकट भविष्य में केंद्र सरकार इस बारे में कोई कदम उठाएगी।’ यह पूछे जाने पर कि चिंता से क्या होगा, उन्होंने कहा कि चिंता और चिंतन से ही रास्ता निकलता है। इस बारे में गंभीर चिंतन हो रहा है। उन्होंने रोहिंग्या मुसलिम शरणार्थियों के मुद्दे पर कहा कि उन्हें देश में रहने का कोई अधिकार नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App