ताज़ा खबर
 

जब अंजना ओम कश्यप से भिड़ गए थे साक्षी महाराज, बोले- मैं चार में से तीन भाई गैरशादीशुदा, मुझे मिलना चाहिए इनाम

कहा कि मेरे सिर्फ दो रूप हैं। मैं एक धर्माचार्य हूं और एक सांसद हूं। कोई भी अपनी बात कह सकता है। कहा कि कांग्रेस हमारा विरोध करती है। अगर कांग्रेस में हिम्मत हो तो आए लोकसभा में, वहां बोलें, वह तो सदन चलने ही नहीं देती है।

भाजपा सांसद साक्षा महाराज। (फाइल फोटो)

कुछ समय पहले साक्षी महाराज ने नाथूराम गोडसे के बारे में विवादास्पद बयान दिया था। जिस पर काफी हंगामा हुआ था। विपक्ष ने इस पर काफी जोरदार ढंग से सरकार पर हमला किया था। इस मुद्दे पर आजतक के थर्ड डिग्री कार्यक्रम में पत्रकार अंजना ओम कश्यप, अशोक सिंहल और सईद अंसारी के साथ बातचीत में अपनी बात को गलत ढंग से पेश करने का आरोप लगाया। इसको लेकर उनकी अंजना ओमकश्यप से काफी बहस हुई। इसी तरह एक बच्चे और दो बच्चे पैदा करने के मुद्दे पर भी उनकी बहस हुई।

पत्रकार अंजना ओमकश्यप ने कहा कि परिवार में एक बच्चे का जन्म हो या दो हों या इससे अधिक हों, इसको आप कैसे तय कर सकते हैं। इस पर साक्षी महाराज ने कहा सबको अपनी बात कहने का अधिकार है। मैं भी कहता हूं। कहा कि “इस देश में एक कानून बनना चाहिए, एक बच्चे का हो तो एक, दो का हो तो दो, सबको उसे ही मानना चाहिए। ऐसा नहीं होना चाहिए कि मेरे घर में एक बच्चे को ही जन्म देने का नियम हो और आपके घर में चालीस बच्चे का नियम हो। कहा कि हम चार भाई हैं, उनमें से तीन भाई अनमैरिड हैं। हमारे तो एक भी बच्चा नहीं है, हमें तो इनाम मिलना चाहिए।”

इस पर पत्रकार अशोक सिंहल ने कहा कि यह तो आपकी च्वाइस है। लेकिन 40 बच्चे पैदा करने वाली बात कहने वाले आप कौन होते हैं, यह तो कानून तय करेगा, कानून में इसका प्राविजन होगा। साक्षी महाराज ने कहा, मैं नहीं हूं, लेकिन मैं कह सकता हूं। मैं अपनी बात उठा सकता हूं।

कहा कि मेरे सिर्फ दो रूप हैं। मैं एक धर्माचार्य हूं और एक सांसद हूं। कोई भी अपनी बात कह सकता है। कहा कि कांग्रेस हमारा विरोध करती है। अगर कांग्रेस में हिम्मत हो तो आए लोकसभा में, वहां बोलें, वह तो सदन चलने ही नहीं देती है।

उन्होंने कहा कि यह भारत भूमि है। इस देश में रहने वाले हर व्यक्ति को भारतीय संविधान को स्वीकार करना होगा। उसे मानना होगा। कहा कि मुसलमान भी हमारे भक्त हैं और हम उनके मुरीद हैं। भोपाल जाता हूं तो एक मुसलमान के यहां रहता हूं।

Next Stories
1 कोरोना वैक्सीन की कमी पर प्रियंका गांधी का तंज, कहा- प्रचारजीवी सरकार
2 जब गुस्साई भीड़ ने भाजपा नेता को घेरा, जान बचा दीवार फांदकर भागे
3 मोदी ने किया रुद्राक्ष सेंटर का उद्घाटन, जापान-भारत की दोस्ती का नमूना, जानें क्या है ख़ासियत
ये पढ़ा क्या?
X