ताज़ा खबर
 

Delhi Violence: आरोपी सफूरा जरगर को HC से बेल, गर्भवती JMI स्टूडेंट को मानवीय आधार पर राहत

Safoora Zargar gets bail: सफूरा, गर्भवती हैं और मानवीय आधार पर अदालत ने उनकी जमानत को मंजूर किया है। बीते काफी समय से सोशल मीडिया पर एक वर्ग सफूरा जरगर को बेल दिए जाने की मांग कर रहा था।

safooraसफूरा जरगर को दिल्ली हाई कोर्ट से मिली बेल

Safoora Zargar gets bail: दिल्ली में फरवरी, 2020 में हुई हिंसा के एक मामले में जामिया मिल्लिया इस्लामिया (JMI) छात्रा सफूरा जरगर को दिल्ली हाई कोर्ट ने जमानत दे दी है। सफूरा गर्भवती हैं और मानवीय आधार पर अदालत ने उनकी जमानत मंजूर की है। बीते काफी समय से सोशल मीडिया पर एक वर्ग सफूरा जरगर को बेल दिए जाने की मांग कर रहा था।

हालांकि, कोर्ट ने जमानत के साथ ही सफूरा को आदेश दिया है कि वह 15 दिनों में कम से कम एक बार फोन के ज़रिए जांच अधिकारी के संपर्क में रहेंगी। कोर्ट ने कहा कि वह किसी भी ऐसी गतिविधि में शामिल न हों, जिससे जांच में बाधा आए। इसके अलावा दिल्ली छोड़ने से पहले अनुमति लेनी होगी।

इससे पहले, सोमवार को दिल्ली पुलिस ने जेल में बंद सफूरा जरगर की जमानत का विरोध किया था। उसने अपनी स्टेटस रिपोर्ट में उसे राष्ट्रीय सुरक्षा को संकट में डालने वाली और उथल-पुथल मचा देने वाली बताया था। पुलिस ने कोर्ट में सुनवाई के दौरान कहा था कि सफूरा के चलते राष्ट्रीय सुरक्षा खतरे में पड़ गई थी।

दिल्ली पुलिस का यह बयान अदालत के उस आदेश के बाद आया है, जिसमें उसने जमानत याचिका पर पुलिस से स्टेटस रिपोर्ट मांगी थी। जामिया मिल्लिया इस्लामिया की छात्रा सफूरा जरगर ने अदालत में जमानत की गुहार लगाई थी।

जामिया से एमफिल कर रहीं सफूरा जरगर को पुलिस ने 10 अप्रैल को अरेस्ट किया था। सफूरा पर आरोप है कि उन्होंने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा को भड़काने का काम किया था। पुलिस ने गैर कानूनी गतिविधियां निरोधक अधिनियम के तहत उसे जेल में बंद कर किया था।निचली अदालत से जमानत अर्जी खारिज हो जाने के बाद सफूरा ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

कोर्ट में बेल की मांग करते हुए जरगर की वकील नित्या रामकृष्णन ने कहा था कि वह नाजुक हालत में हैं और गर्भवती हैं और अगर पुलिस को याचिका पर जवाब देने के लिए वक्त चाहिए तो छात्रा को कुछ वक्त के लिए अंतरिम जमानत दी जानी चाहिए। इस पर हाई कोर्ट ने सॉलिसिटर जनरल (एसजी) तुषार मेहता से मंगलवार को निर्देश लेकर आने को कहा था।

Next Stories
1 ‘मेक इन इंडिया’ और ‘आत्मनिर्भर भारत‘ पर जोर! सरकारी एजेंसियों को सामान बेचने से पहले बताना होगा किस देश में बना है सामान
2 India China Faceoff: भारतीय सैनिकों से झड़प में अपने 20 सैनिकों के मारे जाने की खबर को चीन ने बताया गलत
3 बेरोजगारी का हाल: प. बंगाल में मनरेगा में 75 दिन में छह लाख रजिस्‍ट्रेशन, पहले साल भर में होता था एक लाख
ये पढ़ा क्या?
X