scorecardresearch

शराब सीमित मात्रा में औषधि का काम करती है और असीमित मात्रा में जहर, बोलीं साध्‍वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर

मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार नई आबकारी नीति लेकर आई है जो 1 अप्रैल 2022 से लागू हो जाएगी। नई आबकारी नीति के तहत प्रदेश में शराब सस्ती हो जाएगी।

sadhvi pragya thakur
भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (फोटो- Screen grab from video – @news24tvchannel)

भोपाल से भारतीय जनता पार्टी की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर आए दिन अपने बयानों के कारण चर्चा में रहती हैं। ताजा मामला शराब पीने को लेकर उनके दिए अजीबोगरीब बयान का है, जिसमें वह शराब को कम मात्रा में लेने पर औषधि की तरह काम करने की बात करती दिखाई दे रही हैं। उनके इस बयान का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

वायरल हुए वीडियो में भाजपा सांसद कह रही हैं, “शराब सस्ती हो या महंगी हो, शराब औषधि का काम करती है।” साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर आगे कहती हैं, “वो आयुर्वेद में शराब यानी अल्कोहल जो होता है, सीमित मात्रा में वह औषधि होती है और असीमित मात्रा में वो जहर होता है। इसको सबको समझना चाहिए।” भाजपा सांसद कहती हैं कि उसको अधिक लेने से जो नुकसान होते हैं उसको समझकर उसे बंद करना चाहिए।

मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार नई आबकारी नीति लेकर आई है जो 1 अप्रैल 2022 से लागू हो जाएगी। नई आबकारी नीति के तहत प्रदेश में शराब सस्ती हो जाएगी। इस मामले में जब पत्रकारों ने भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा से प्रतिक्रिया लेनी चाही तो उन्होंने शराब को लेकर अजीबोगरीब बयान दे दिया। इसके अलावा, उन्होंने शराबबंदी पर पूर्व सीएम उमा भारती का समर्थन भी किया और कहा कि राज्य में शराबबंदी होनी चाहिए, इससे अपराध बढ़ते है।

वहीं, सोशल मीडिया पर भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का एक और वीडियो सामने आया है, जिसमें वह क्रिकेट खेलती नजर आ रही हैं। बताया जा रहा है कि वह भोपाल में चल रहे संस्कृत क्रिकेट टूर्नामेंट में पहुंची थीं, इस दौरान उन्होंने बल्लेबाजी में हाथ आजमाए।

नई आबकारी नीति को लेकर राज्य में सियासत गरमाई हुई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय सिंह ने आबकारी नीति के बहाने उमा भारती पर निशाना साधा। अजय सिंह ने कहा, ”उमा भारती क्या कर रही हैं। उमा भारती ने कहा कि नशाबंदी को लेकर वह प्रांतव्यापी आंदोलन करेंगी, लेकिन वह अब कहां हैं?” उन्होंने कहा कि सरकार शराबबंदी को लेकर गंभीरता से प्रयास नहीं कर रही है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट