ताज़ा खबर
 

भारत से भाग निकले नित्यानंद ने बना लिया अपना देश, नाम दिया- कैलासा, रख रखा है खुद का पासपोर्ट भी!

नित्यानंद ने दक्षिण अमेरिका के इक्वाडोर से एक प्राइवेट आइलैंड खरीदने के बाद उसका नाम 'कैलासा' रखा है। इतना ही नहीं यह द्वीप त्रिनिदाद और टोबैगो के करीब स्थित है और इसे नित्यानंद द्वारा संप्रभु हिंदू राष्ट्र घोषित किया गया है।

Author नई दिल्ली | Published on: December 3, 2019 9:13 PM
नित्यानंद के खिलाफ कर्नाटक में रेप का मामला दर्ज है। (फाइल फोटो)

रंगीन मिजाजी के चलते जमाने में बदनाम हो चुके दक्षिण भारत के स्वयंभू बाबा नित्यानंद गुजरात पुलिस के हाथ नहीं लग रहे हैं और देश छोड़ कर भाग गए हैं। बलात्कार के आरोपी नित्यानंद ने अपना अलग देश बना लिया है। नित्यानंद ने दक्षिण अमेरिका के इक्वाडोर से एक प्राइवेट आइलैंड खरीदने के बाद उसका नाम ‘कैलासा’ रखा है। इतना ही नहीं यह द्वीप त्रिनिदाद और टोबैगो के करीब स्थित है और इसे नित्यानंद द्वारा संप्रभु हिंदू राष्ट्र घोषित किया गया है। नित्यानंद के इस नए देश कैलासा का अपना एक अलग झंडा, पासपोर्ट और प्रतीक भी होगा।

वेबसाइट पर नित्यानंद ने अपने देश के अलग विधान, अलग संविधान और सरकारी ढांचे की भी जानकारी दी है। इस साइट पर ‘महानतम हिंदू राष्ट्र’ कैलासा की नागरिकता हासिल करने के लिए डोनेशन का भी आह्वान किया है। कैलासा की वेबसाइट के अनुसार, “यह बिना सीमाओं वाला एक राष्ट्र है, जिसे दुनिया भर के ऐसे हिंदुओं ने बनाया है जिन्होंने अपने ही देशों में प्रामाणिक रूप से हिंदू धर्म का अभ्यास करने का अधिकार खो दिया है।”

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नित्यानंद ने अमेरिका की एक प्रसिद्ध कानूनी सलाहकार कंपनी की मदद से संयुक्त राष्ट्र में एक याचिका दायर की है। इस याचिका में उसने अपने देश को मान्यता देने की अपील की है। ‘कैलासा’ के दो पासपोर्ट हैं एक एक सुनहरे रंग का और दूसरा लाल रंग का। इसके झंडे का रंग मैरून है और इस पर दो प्रतीक हैं- एक सिंहासन पर नित्यानंद और दूसरा एक नंदी है। नित्यानंद ने अपने ‘देश’ के लिए एक कैबिनेट भी बनाई है और अपने एक करीबी अनुयायी ‘मा’ को प्रधानमंत्री नियुक्त किया है।

बता दें अहमदाबाद पुलिस ने बाबा और उसकी दो सेविकाओं के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज किया है। पुलिस ने आरोपी दोनों सेविकाओं को गिरफ्तार कर लिया है जबकि बाबा फिलहाल फरार है। दर्ज एफआईआर में बाबा और उसकी सेविकाओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 365 (अपहरण), 344, 504, 506, 323, 114 व चाइल्ड लेबर एंड रेगुलेशन एक्ट का सेक्शन-14 भी लगाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘BJP सरकार छुपाती है हर आंकड़ा…’, ट्वीट पर आशुतोष ट्रोल, लोगों ने लताड़ा- आप हरिशचंद्र की औलाद हैं?
2 कुमार विश्वास बोले- ‘मर्द’ से पहले ‘इंसान है असली पुरुष’, यूजर्स बोले- जिसमें मर्यादा नहीं वह कैसा मर्द, बोलो कब होगा इंसाफ?
3 मृतका के परिजन से मिलने के बजाय बरात में पहुंचे थे CM, घर वाले बोले- नहीं आए के चंद्रशेखर राव, पुलिस ने भी बर्बाद कराया वक्त
जस्‍ट नाउ
X