scorecardresearch

रुचिरा कंबोज : संयुक्त राष्ट्र में भारत की पहली महिला राजदूत

वे 1987 सिविल सेवा परीक्षा में अखिल भारतीय स्तर पर महिलाओं में शीर्ष पर रहीं।

रुचिरा कंबोज : संयुक्त राष्ट्र में भारत की पहली महिला राजदूत

भारतीय विदेश सेवा की अफसर रुचिरा कंबोज को संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि बनाया गया है। वे अमेरिका के न्यूयार्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में भारत की पहली महिला स्थायी प्रतिनिधि होंगी। 1987 बैच की रुचिरा ने संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति की जगह ली है।

रुचिरा भूटान में भारत की पहली महिला राजदूत थीं। वे दक्षिण अफ्रीका में भारत की उच्चायुक्त और यूनेस्को में भारत की राजदूत के तौर पर काम कर चुकी हैं। एक अगस्त को पदभार ग्रहण करने पहुंची रुचिरा कंबोज ने ट्वीट किया, संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि के तौर पर न्यूयार्क पहुंची हूं। इस नए पद के जरिए अपने देश की सेवा करना मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है। वे इससे पहले 2002-2005 तक न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में काउंसलर के रूप में भी काम कर चुकी हैं।

वे 1987 सिविल सेवा परीक्षा में अखिल भारतीय स्तर पर महिलाओं में शीर्ष पर रहीं। विदेश सेवा बैच की वे टापर रह चुकी हैं। उन्होंने पेरिस में अपनी राजनयिक यात्रा शुरू की, जहां उन्हें 1989-1991 तक फ्रांस में भारतीय दूतावास में तीसरे सचिव के रूप में तैनात किया। दिल्ली लौटने के बाद उन्होंने 1991-96 तक विदेश मंत्रालय के यूरोप वेस्ट डिवीजन में अवर सचिव के रूप में काम किया। 1996-1999 तक, उन्होंने मारीशस में प्रथम सचिव (आर्थिक और वाणिज्यिक) और पोर्ट लुइस में भारतीय उच्चायोग में चांसरी के प्रमुख के रूप में काम किया।

रुचिरा ने जुलाई, 2017 से मार्च, 2019 तक किंगडम आफ लेसोथो में समवर्ती मान्यता के साथ दक्षिण अफ्रीका में भारत के उच्चायुक्त के रूप में काम किया। इसके बाद वो 17 मई, 2019 को भूटान में भारतीय दूत के रूप में कार्यभार संभाल रही थीं। परिषद में भारत का कार्यकाल इस साल दिसंबर में समाप्त हो रहा है।

वहीं भारत इस महीने के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ के अध्यक्ष के रूप में भी अध्यक्षता करेगा। रुचिरा कंबोज के दिवंगत पिता भारतीय सेना में अधिकारी थे। उनकी मां दिल्ली विश्वविद्यालय में संस्कृत की प्रोफेसर रह चुकी हैं। अब सेवानिवृत्त हो चुकी हैं। रुचिरा की शादी कारोबारी दिवाकर कंबोज के साथ हुई है। उनकी एक बेटी भी है। रुचिरा कंबोज ने स्कूल की पढ़ाई दिल्ली, वडोदरा और जम्मू से की है। उन्होंने मसूरी के वाईन बर्ग एलन स्कूल से भी पढ़ाई की है।

दिल्ली विश्वविद्यालय से उन्होंने उच्च शिक्षा प्राप्त की। कंबोज लंदन स्कूल आफ इकोनामिक्स से भी डिग्री हासिल कर चुकी हैं। हिंदी, इंग्लिश के साथ उनकी फ्रेंच भाषा पर उनकी अच्छी पकड़ है। रुचिरा ऐसे वक्त में संयुक्त राष्ट्र में बागडोर संभालने जा रही हैं, जब दिसंबर में 15 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की अस्थायी सदस्यता के दो साल का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। इसी साल दिसंबर में भारत संयुक्त राष्ट्र की अध्यक्षता भी करने जा रहा है, जिसमें रुचिरा कंबोज की महत्त्वपूर्ण भूमिका रहेगी।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.