ताज़ा खबर
 

संसद में गिरिराज सिंह पर असदुद्दीन ओवैसी का तंज- अरे, डर क्यों रहे हैं मुझसे…बोलिए न…मैं बैठ जाता हूं

एआईएमआईएम चीफ ने लॉ कमीशन की रिपोर्ट का जिक्र भी किया और नरेंद्र मोदी सरकार पर आरटीआई कानून खत्म करने का आरोप मढ़ा।

Asaduddin Owaisi, All India Majlis-e-Ittehadul Muslimeen, AIMIM, Giriraj Singh, BJP, RTI, RTI Amendment Bill 2019, Narendra Modi Government, NDA, Parliament, New Delhi, Asaduddin Owaisi News, Giriraj Singh News, State News, National News, India News, Hindi Newsलोकसभा में बोलते एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी। (फोटोःLSTV/PTI)

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने संसद में सोमवार (22 जुलाई, 2019) को केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर तंज कसा। चर्चा के दौरान मुस्कुराते हुए कहा, “अरे, आप डर क्यों रहे हैं मुझसे…बोलिए न…मैं बैठ जाता हूं।” दरअसल, संसद के निचले सदन यानी कि लोकसभा में उस दौरान सूचना का अधिकार (आरटीआई) संशोधन बिल पर बहस हो रही थी।

चर्चा के बीच सिंह ने कुछ कहा था, जिस पर एआईएमआईएम चीफ बोले, “आप कुछ बोलिए न। खड़े होकर बोलिए न। अरे गिरिराज जी, खड़े होकर बोलिए न…डर क्यों रहे हैं मुझसे, खड़े होकर बोलिए न। खड़े हो जाइए, हम बैठते हैं (मुस्कुराते हुए)।” ओवैसी इसके बाद बैठ गए और बोले, “मैं दरख्वास्त करता हूं, बोलिए न।”

हालांकि, वह फिर खड़े हुए और कहने लगे, “इस पर तो आप मत बोलिए, आप पाकिस्तान के एक्सपर्ट हैं।” आगे लोक अध्यक्ष को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा- इस आरटीआई का प्रिएंबल क्या है? प्रिएंबल कहता है…पारदर्शिता और जवाबदेही। क्या आप इससे ये चीजें हासिल कर रहे हैं? मुझे तो नहीं लगता है। आप ऐसे ही कुछ भी नहीं करते जाएंगे।

ओवैसी ने लॉ कमीशन की रिपोर्ट का जिक्र भी किया और नरेंद्र मोदी सरकार पर आरटीआई कानून खत्म करने का आरोप मढ़ा। बकौल ओवैसी, “आखिरी बात मैं कहना चाहूंगा कि लॉ कमीशन की रिपोर्ट आई। सरकार ने 2017 के फाइनैंस बिल के तहत तमाम ट्रिब्यूनल्स की तन्ख्वाह को उचित बताया। क्या उस कमीशन की रिपोर्ट में कहा गया कि चीफ इन्फॉर्मेशन या स्टेट इन्फॉर्मेशन की सैलरी में कमी लाई जाए।”

वह आगे बोले, “अरे, आखिर आप न आयोग को मानते हैं और न ही संविधान को मानते हैं। आप केवल अपनी मर्जी को मानते हैं। ऐसे में मैं इस बिल की मुखालफत करता हूं। साथ ही सरकार से गुजारिश करता हूं कि जरूर कानून बनाइए, पर यह कानून मॉडिफिकेशन ऑफ आरटीआई हो रहा है।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नीतीश-ममता-योगी समेत कई राज्‍य सरकारों की सुस्‍ती से बच सकते हैं मोदी सरकार के 26500 करोड़ रुपये
2 Kerala Sthree Sakthi Lottery SS-167 Today Results: 30 रुपए के टिकट का इनाम 60,00,000 रुपए
3 बिहार के इस बीजेपी सांसद को प्रॉपर्टी डीलर ने लगा दिया 6.6 करोड़ रुपये का चूना!
ये पढ़ा क्या?
X