ताज़ा खबर
 

शोध और अनुसंधान के ‘भारतीयकरण’ के लिए इंटरनेशनल कॉन्‍फ्रेंस कराएगी RSS की एजुकेशन विंग

BSM के एक अधिकारी ने बताया कि देश के विभिन्न शिक्षण संस्थानों और विश्वविद्यालयों में होने वाले शोध और अनुसंधान मौलिक, व्यावहारिक, राष्ट्रहित और समाज के लिए उपयोगी होने चाहिए।

आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत

राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ (RSS) की एजुकेशन विंग भारतीय शिक्षण मंडल (BSM) नागपुर में इंटरनेशनल कॉन्‍क्‍लेव का आयोजन कराने जा रहा है। इसका मकसद देश के भीतर की जा रही रिसर्च में ‘भारतीय’ नजरिया को बढ़ावा देना है। तीन दिन चलने वाला यह कार्यक्रम 11 फरवरी से शुरू होगा। BSM यह मुहिम RSS के उस प्रोग्राम के ठीक बाद शुरू करने जा रहा है, जिसके तहत बेसिक एजुकेशन का ‘भारतीयकरण’ करने की बात कही जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, कॉन्‍फ्रेंस के दौरान इंडियन नॉलेज सिस्‍टम, आर्किटेक्‍चर, पर्यावरण और मानवता जैसे मुद्दों पर दस्‍तावेज पेश किए जाएंगे। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, मानव संसाधन मंत्री स्‍मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर और महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के मौजूद रहने की उम्‍मीद है।

BSM के एक अधिकारी ने बताया कि देश के विभिन्न शिक्षण संस्थानों और विश्वविद्यालयों में होने वाले शोध और अनुसंधान मौलिक, व्यावहारिक, राष्ट्रहित और समाज के लिए उपयोगी होने चाहिए। इस पर विचार के लिए सम्मेलन आयोजित किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X