ताज़ा खबर
 

ओवैसी के पूर्वज को ब्राह्मण बता संघ विचारक ने छेड़ा विवाद

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े विचारक राकेश सिन्हा ने गुरुवार को आॅल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआइएमआइएम) के प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी के पूर्वजों को हिंदू ब्राह्मण बता कर सोशल मीडिया पर नया विवाद पैदा कर दिया।

Author नई दिल्ली | February 11, 2017 2:45 AM

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े विचारक राकेश सिन्हा ने गुरुवार को आॅल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआइएमआइएम) के प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी के पूर्वजों को हिंदू ब्राह्मण बता कर सोशल मीडिया पर नया विवाद पैदा कर दिया। प्रोफेसर सिन्हा ने अपने ट्वीटर खाते पर गुरुवार को ओवैसी को संबोधित करते हुए कहा, ‘ आपके पुरखे हैदराबाद के ब्राह्मण थे। धर्मांतरण आपकी राष्ट्रीय इतिहास और पुरखों को नहीं बदलता’। ओवैसी ने सिन्हा की टिप्पणी पर पलटवार ट्वीट करते हुए लिखा, ‘नहीं, मेरे परदादा, उनके परदादा और सारे परदादा पैगंबर आदम के यहां से आए हैं’। ओवैसी के जवाब पर सिन्हा ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा, ‘आपका बहुत सम्मान करते हुए मैं कहता हूं कि हमारा डीएनए एक ही है। आपके पूर्वज स्वदेशी थे और किसी विदेशी मिट्टी से नहीं आए थे। हिंदू तो सभ्यतामूलक परिभाषा है’। दो विपरीत विचारधाराओं के इन नेताओं की टिप्पणियों के बाद गुरुवार को संघ बनाम शाखा और आदम बनाम मोहम्मद साहब की जंग छिड़ गई। दोनों खेमे जब एक-दूसरे पर जब ट्वीट करने लगे तो शब्दों में उसका दायरा तो महज 160 शब्दों का था लेकिन भाव में असंसदीय के दायरे तक पहुंच चुका था।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 32 GB Black
    ₹ 41498 MRP ₹ 50810 -18%
    ₹6000 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 9597 MRP ₹ 10999 -13%
    ₹480 Cashback

बताते चलें कि पिछले दिनों संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधामनंत्री मनमोहन सिंह पर हमला करते हुए भ्रष्टाचार से बेदाग रहने के संदर्भ में कहा था कि ‘बाथरूम में रेनकोट पहन कर नहाने की कला तो मनमोहन सिंह ही जानते हैं’। प्रधानमंत्री के इस बयान की विपक्ष ने तीखी आलोचना की थी। इसी संदर्भ में ओवैसी ने 2002 में हुए गुलबर्ग सोसायटी जनसंहार से प्रधानमंत्री मोदी के जुड़े होने को लेकर तीखे सवाल किए थे। उन्होंने लिखा कि अगर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बाथरूम में रेनकोट पहना हुआ था तो उस समय आपने क्या पहना हुआ था जब आपके मुख्यमंत्री रहते एहसान जाफरी और दूसरों की हत्याएं की जा रही थी। रेनकोट वाले बयान पर विपक्ष के तीखे हमले का जवाब देने के लिए संघ विचारकों का खेमा भी मुस्तैदी से जुट गया जिसका नतीजा ओवैसी के पूर्वजों का डीएनए खोजने तक पहुंचा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App