ताज़ा खबर
 

भागवत की ‘आरक्षण’ टिप्पणी को गंभीरता से लिया जाना चाहिए: शत्रुघ्न

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि आरक्षण के मुद्दे पर पुनर्विचार की आरएसएस प्रमुख की राय को गंभीरतापूर्वक लिया जाना चाहिए। आरएसएस प्रमुख की आरक्षण..

Author पटना | October 18, 2015 5:34 PM
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत (पीटीआई फोटो)

भाजपा को अक्सर अपने ट्वीट संदेशों के कारण असहज स्थिति में डालने वाले और उसके परिणामों से बेपरवाह सांसद और सिने अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने रविवार को कहा कि आरक्षण के मुद्दे पर पुनर्विचार की आरएसएस प्रमुख की राय को गंभीरतापूर्वक लिया जाना चाहिए।

समझा जाता है कि शत्रुघ्न अपनी पार्टी से नाराज चल रहे हैं। उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि आरएसएस प्रमुख की आरक्षण के बारे में राय को गंभीरतापूर्वक लिया जाना चाहिए। ‘‘हम आरएसएस सुप्रीमो की राय को बहुत सम्मान देते हैं। कुछ लोगों द्वारा आरएसएस-भाजपा के उच्च शिक्षित और पिता समान व्यक्तित्व का उपहास और मजाक बनाने की कोशिश दुखद और निराशाजनक है।’’

पार्टी के भीतर खुद को नाराज, गुस्सैल, नकारात्मक सोच रखने वाला बताए जाने के लिए अपने आलोचकों और विरोधियों को चेतावनी देते हुए पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद शत्रुघ्न ने कहा कि वे शांतचित्त और धैर्यवान हैं। बिहार के, इस प्रदेश की जनता और अपनी पार्टी के व्यापक हित में हमने जो कहा है वह किया है या करेंगे।

उन्होंने कहा ‘‘बिहारी बाबू केवल बिहार के गौरव के इच्छुक हैं जहां शांति, इसकी संपन्नता, प्रगति और विकास हो और यह कहां से संभव होगा यह मायने नहीं रखता।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App