ताज़ा खबर
 

जनसंख्या ‘असंतुलन’ पर संघ पारित करेगा प्रस्ताव

मुस्लिम आबादी 17 करोड़ से अधिक दर्ज किये जाने के मद्देनजर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अंसतुलन पर ध्यान देने के लिए एक प्रस्ताव पारित कर सकती है..

Author रांची | Published on: October 30, 2015 1:00 AM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर। (फाइल)

जनगणना के हाल के आंकड़ों में मुस्लिम आबादी 17 करोड़ से अधिक दर्ज किये जाने के मद्देनजर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की शुक्रवार से शुरू हो रही तीन दिवसीय बैठक में जनसंख्या वृद्धि में अंसतुलन की बात कहते हुए इस विषय पर ध्यान देने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया जा सकता है।

संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने बैठक की पूर्वसंध्या पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हाल ही में आये जनगणना के आंकड़े जनसंख्या वृद्धि में अंसतुलन दिखाते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘बैठक में इस विषय पर गहन विचार-विमर्श किया जाएगा और इस संबंध में एक प्रस्ताव पारित किया जा सकता है।’’ बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत समेत संगठन के समस्त शीर्ष पदाधिकारी भाग लेंगे।

पिछले दिनों जारी जनगणना के आंकड़ों के अनुसार मुस्लिम समुदाय की आबादी 2001 से 2011 के बीच 10 साल में 0.8 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 17.22 करोड़ पहुंच गयी, वहीं हिंदुओं की जनसंख्या इस अवधि में 0.7 प्रतिशत कमी के साथ 96.63 करोड़ रह गयी।

पिछले हफ्ते विजया दशमी पर अपने संबोधन में भागवत ने कहा था कि पिछली दो जनगणना रिपोर्टों के तथ्य और आंकड़ों और परिणामस्वरूप सामने आये असंतुलन पर व्यापक मंथन हो रहा है।

वैद्य ने उपमन्यु हजारिका आयोग की इस रिपोर्ट पर भी देशव्यापी बहस की जरूरत बताई कि बांग्लादेश से अवैध पलायन के चलते 2047 तक असम में स्थानीय आबादी के सिमटकर अल्पसंख्यक हो जाने का खतरा है।

उन्होंने कहा, ‘‘हाल में हजारिका आयोग की रिपोर्ट ने असम और बंगाल में बदलती जनसांख्यिकीय स्थिति के बारे में चौंकाने वाली जानकारी दी है। यदि यही प्रवृत्ति जारी रही तो भारतीयों की जनसंख्या कम हो जाएगी और विदेशी बढ़ जाएंगे।’’

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X