ताज़ा खबर
 

एसआइटी करेगी संघ नेता गगनेजा पर हमले की जांच, एक गोली अब भी पेट में, हालत गंभीर

भाजपा ने गगनेजा पर जानलेवा हमले में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की और आरोप लगाया कि यह राष्ट्रवादी ताकतों को विफल करने व राज्य में माहौल बिगाड़ने की कोशिश है।

Author जलंधर | August 8, 2016 6:24 AM
Rss Jagdish Gagneja, Jagdish Gagneja attack, BJP Punjab, RSS leader, parkash singh badal, Jagdish Gagneja News, Jagdish Gagneja latest news, Punjab Newsआरएसएस के स्टेट वाइस प्रेसिडेंट जगदीश गगनेजा (FILE PHOTO)

पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के आदेश पर पंजाब पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने वरिष्ठ आरएसएस नेता ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) जगदीश गगनेजा पर हुए हमले की जांच के लिए एसआइटी गठित कर दी है जिसकी अगुआई जांच ब्यूरो के अतिरिक्त महानिदेशक आइपीएस अफसर सहोता करेंगे। पंजाब पुलिस के सूत्रों के मुताबिक एसआइटी के अन्य सदस्यों में जलंधर के पुलिस आयुक्त अर्पित शुक्ला, आइजीपी (अपराध शाखा) नीलाभ किशोर और जलंधर के एआइजी/सीआइ अमरजीत सिंह बाजवा होंगे। इस एसआइटी को जरूरत पर पड़ने पर अन्य सदस्यों को शामिल करने का भी अधिकार दिया गया है। एसआइटी को मौके की पड़ताल करने, साक्ष्य जुटाकर जांच को आगे बढ़ाने और जल्द से जल्द जांच को अंजाम तक पहुंचाने को भी कहा गया है। वरिष्ठ भाजपा नेता व अमृतसर के नेता अनिल जोशी भी घायल गगनेजा का कुशलक्षेम पूछने के लिए जलंधर के अस्पताल पहुंचे। बादल सरकार में मुख्य संसदीय सचिव और नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू भी उन्हें देखने पहुंची।

बाद में जोशी ने बताया कि जलंधर पुलिस आयुक्त अर्पित शुक्ला ने गगनेजा को कुछ ही समय पहले पुलिस सुरक्षा मुहैया कराने की पेशकश की थी जिसके लिए उन्होंने मना कर दिया। भाजपा सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री बादल के निर्देश पर बाद में वरिष्ठ शिअद नेता अजित सिंह कोहाड़ और कुछ अन्य स्थानीय शिअद नेता भी अस्पताल में गगनेजा का हालचाल पूछने पहुंचे। सीएमसी, लुधियाना के डाक्टरों के एक दल से भी विचार-विमर्श किया गया है। देर रात तक गगनेजा के जिस्म में धंसी दो गोलियां निकाली गर्इं थीं और देर रात तक अस्पताल में बड़ी संख्या में भाजपा और आरएसएस नेताओं का जमावड़ा लगा रहा। गोली लगने के बाद से ही संघ नेता की देखरेख कर रहे भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व स्थानीय विधायक मनोरंजन कालिया ने बताया कि पेट में गोली लगने के बाद गंभीर रूप से घायल संघ के सह सरसंघचालक बिग्रेडियर (सेवानिवृत्त) जगदीश गगनेजा का एक निजी अस्पताल में शनिवार रात दो बजे के बाद तक आपरेशन चलता रहा। इस दौरान दो गोलियां निकाल दी गई हैं लेकिन एक गोली अभी भी उनके पेट में ही है जो जिगर के आसपास फंसी हुई है।

कालिया ने बताया कि उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा से बातचीत कर केंद्र से ‘क्रिटिकल केयर टीम’ भेजने को कहा है ताकि गगनेजा का इलाज और बेहतर तरीके से किया जा सके। नड्डा ने चंडीगढ़ स्थित पीजीआइ के निदेशक डॉ योगेश चावला को इस बारे में जरूरी निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि इससे पहले शनिवार देर रात मुख्यमंत्री के निर्देश पर लुधियाना स्थित डीएमसी से डॉ जसपाल की अगुआई में एक टीम जलंधर आई और उन्हीं की देखरेख में निजी अस्पताल में संघ नेता का ऑपरेशन किया गया। उनकी हालत स्थिर लेकिन नाजुक बनी हुई है।

इससे पहले शहर के पुलिस आयुक्त अर्पित शुक्ला ने बताया कि हमने घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देखे हैं। इसमें नजर आ रही मोटरसाइकिल का नंबर भी हमने हासिल कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है और हम जल्द ही हमलावरों तक पहुंच जाएंगे। उन्होंने कोई विस्तृत जानकारी दिए बिना बताया कि मोटरसाइकिल पर दो युवक सवार थे और दोनों ने रुमाल से अपना चेहरा ढक रखा था। उन दोनों ने सिर पर काले और पीले रंग का ‘पटका’ (एक प्रकार का सिर ढकने वाला कपड़ा जिसे पगड़ी के स्थान पर इस्तेमाल किया जाता है) बांध रखा था। दोनों की उम्र 20 साल के आसपास लगती है। यह पूछने पर कि क्या यह कोई आतंकी वारदात है तो पुलिस आयुक्त ने कहा कि अभी इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।

भाजपा ने गगनेजा पर जानलेवा हमले में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की और आरोप लगाया कि यह राष्ट्रवादी ताकतों को विफल करने व राज्य में माहौल बिगाड़ने की कोशिश है। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव तरुण चुग ने यहां संवाददाताओं से कहा कि हमने राज्य सरकार से इस मामले को गंभीरता से लेने की मांग की है। हम चाहते हैं कि इस घटना के पीछे जो लोग हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। इस घटना की निंदा करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी की पंजाब इकाई इस मामले पर गौर करेगी और स्थिति की समीक्षा करेगी। वैसे उन्होंने यह कहते हुए पुलिस का बचाव किया कि हमें पुलिस व अन्य जांच एजंसियों पर भरोसा करना होगा क्योंकि हम उन्हीं की वजह से सुरक्षित हैं। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने इस घटना की निंदा की और अपराधियों को यथाशीघ्र गिरफ्तार करने का निर्देश दिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लोकसभा में आज पेश होगा जीएसटी विधेयक, कांग्रेस ने जारी किया विप
2 गंगा की सफाई के लिए बनेगा कानून
3 बेटी ने परिवार को दिया जहर, प्रेमी और दोस्त के साथ मिलकर लूटा घर
यह पढ़ा क्या?
X