ताज़ा खबर
 

2002 तक गणतंत्र दिवस नहीं मनाने वाले आरएसएस का फरमान- 26 जनवरी को दिल्ली के हर मोहल्ले में फहराओ तिरंगा

राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) ने ऐलान किया है कि इस बार उनकी तरफ से दिल्ली के हर मोहल्ले में तिंरगा फहराया जाएगा।

Author Updated: January 14, 2017 10:21 AM
भारत का राष्ट्रधव्ज। (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) ने ऐलान किया है कि इस बार उनकी तरफ से दिल्ली के हर मोहल्ले में तिंरगा फहराया जाएगा। इसके लिए संघ के हर स्वंयसेवी से कहा गया है कि दिल्ली के हर मोहल्ले में तिंरगा फहराना उनकी जिम्मेदारी है। माना जा रहा है कि ऐसा लोगों में देशभक्ति की भावना का संचार करने के लिए किया जा रहा है। गौरतलब है कि इससे पहले 2002 तक संघ तिरंगा नहीं फहराता था। इसकी वजह यह थी कि संघ ने अखंड भारत के निर्माण की कसम खा रखी थी। इसलिए आजादी के 51 साल बाद भी यानी 2002 तक RSS ने तिरंगे से दूरी बनाई रखी।

क्या है अखंड भारत : अखण्ड भारत भारत के प्राचीन समय के अविभाजित स्वरूप को कहा जाता है। प्राचीन काल में भारत बहुत विस्तृत था जिसमें अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, बर्मा, थाइलैंड आदि शामिल थे। कुछ देश जहां बहुत पहले के समय में अलग हो चुके थे वहीं पाकिस्तान, बांग्लादेश आदि अंग्रेजों से स्वतन्त्रता के काल में अलग हुए।

इससे पिछले साल भी संघ और तिंरगे को लेकर विवाद हुआ था। तब संघ से जुड़े संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने 26 जनवरी को सभी मदरसों को तिरंगा फहराने की नसीहतच लिए कहा था। हालांकि, दारुल उलूम ने उसपर अपनी आपत्ति दर्ज करवाई थी।

वहीं मदरसों पर तिरंगा फहराने की बात के समर्थन में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय संयोजक मोहम्मद अफजाल ने कहा था कि उनका संगठन पिछले पांच बरसों से 26 जनवरी और 15 अगस्त को मदरसों पर तिरंगा फहराने की अपील करता रहा है। उन्होंने कहा था कि उस साल केंद्र में अपनी (बीजेपी) सरकार होने की वजह से उस कार्यक्रम को बड़े पैमाने पर आयोजित किया जा रहा था।

 

इस वक्त की बाकी ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आर्मी जवान की पत्नी का आरोप- कपड़े, जूते, बर्तन के साथ टॉयलेट तक साफ कराते हैं सीनियर अफसर
2 अधिकारियों के काम से नाखुश पीएम मोदी, बीच में छोड़ी मीटिंग, कहा- तुम काम को लेकर सीरियस नहीं हो
3 जवानों के लिए बीएसएफ ने शुरु की हेल्पलाइन