ताज़ा खबर
 

रोज वैली चिटफंड मामले में फंसी यह मशहूर एक्ट्रेस, 17 हजार करोड़ रुपए का है घोटाला

रोज वैली चिट फंड कंपनी ने पोंजी स्कीम के तहत डिपॉजिटर्स से करीब 17 हजार करोड़ रुपए इकट्ठा किए और फिर इन पैसों को कई फर्जी कंपनियों के जरिए अलग-अलग जगह पर निवेश किया।

Author नई दिल्ली | July 11, 2019 2:37 PM
बंगाली सिनेमा की मशहूर की अभिनेत्री रितुपर्ण सेनगुप्ता। (file pic)

रोज वैली चिटफंड मामले में ईडी ने बंगाली सिनेमा की मशहूर अभिनेत्री ऋतुपर्ण सेनगुप्ता को समन जारी किया है। ईडी ने ऋतुपर्ण सेनगुप्ता को अगले हफ्ते पूछताछ के लिए बुलाया है। ईडी ने इस मामले में बंगाली सुपरस्टार एक्टर प्रोसेनजीत चटर्जी को भी पूछताछ के लिए बुलाया है। सेनगुप्ता को 7 करोड़ रुपए की एक ट्रांजैक्शन के सिलसिले में पूछताछ के लिए बुलाया गया है। सूत्रों के अनुसार, रोज वैली ग्रुप ऑफ कंपनीज ने कई बंगाली फिल्मों का निर्माण किया था। साल 2010-2012 के बीच ये फिल्में बनीं। इंडिया टुडे की एक खबर के अनुार, चिटफंड कंपनी ने हैंगओवर नाम की एक फिल्म का निर्माण किया था।

इस फिल्म में प्रोसेनजीत चटर्जी ने काम किया था। इंडिया टुडे की एक खबर के अनुसार, इस फिल्म के निर्माण में सिर्फ 5 लाख रुपए से भी कम का खर्च आया था। जांच एजेंसियों की जांच के बाद खुलासा हुआ है कि फिल्म प्रोडक्शन की लागत को पेपर्स पर कम करके दिखाया गया और चिटफंड कंपनी के डिपॉजिटर्स के पैसे से फिल्म की फंडिंग की गई। कुछ समय पहले सीबीआई ने रोज वैली चिटफंड मामले की जांच के दौरान बंगाली फिल्म प्रोड्यूसर श्रीकांत मोहटा को गिरफ्तार किया था। कथित तौर पर मोहटा ने रोज वैली से 25 करोड़ रुपए लिए थे।

बता दें कि रोज वैली चिट फंड कंपनी ने पोंजी स्कीम के तहत डिपॉजिटर्स से करीब 17 हजार करोड़ रुपए इकट्ठा किए और फिर इन पैसों को कई फर्जी कंपनियों के जरिए अलग-अलग जगह पर निवेश किया। ईडी के अनुसार, रोज वैली ग्रुप के मास्टरमाइंड गौतम कुंडु ने लोगों को अच्छे रिटर्न का सपना दिखाकर और आरबीआई और सेबी की गाइडलाइन्स के विपरीत जाकर 17 हजार करोड़ रुपए इकट्ठा किए।

जांच एजेंसियों के मुताबिक रोज वैली ग्रुप कोई फायदा कमाने वाला कोई बिजनेस नहीं कर रहा था और इन्होंने सारा पैसा धांधली से इकट्ठा किया। गौरतलब है कि गौतम कुंडु को ईडी द्वारा साल 2015 में ही गिरफ्तार कर लिया गया था। ईडी इस मामले में 933 करोड़ रुपए की (जिनकी मौजूदा बाजार कीमत 1900 करोड़ रुपए आंकी गई है) संपत्ति अटैच की जा चुकी है। बीते साल ईडी ने इस मामले में 2,381 करोड़ रुपए की संपत्ति भी अटैच की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App