Rohtak Sister's Will Be Honoured On 26th Jan 2015 By Haryana Govt - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गणतंत्र दिवस पर सम्मानित होंगी रोहतक की बहनें

रोहतक में हरियाणा रोडवेज की बस में कथित तौर पर छेड़खानी करने वाले तीन युवकों से मुकाबला करने वाली दो सगी बहनों को उनकी बहादुरी के लिए गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जाएगा। वैसे इस घटना को लेकर आक्रोश उत्पन्न हो गया है तथा राज्य सरकार ने बस के चालक और कंडक्टर को निलंबित कर […]

Author December 1, 2014 7:33 PM
हरियाणा सरकार ने गणतंत्र दिवस के मौके पर जांबाज़ बहनों को सम्मानित करने की घोषणा की। (फाइल फ़ोटो)

रोहतक में हरियाणा रोडवेज की बस में कथित तौर पर छेड़खानी करने वाले तीन युवकों से मुकाबला करने वाली दो सगी बहनों को उनकी बहादुरी के लिए गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जाएगा। वैसे इस घटना को लेकर आक्रोश उत्पन्न हो गया है तथा राज्य सरकार ने बस के चालक और कंडक्टर को निलंबित कर दिया है।

हरियाणा सरकार ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए राज्य के पुलिस महानिदेशक और राज्य परिवहन विभाग से कहा कि वे रोडवेज की बसों में यात्रा करने वाले यात्रियों विशेष रूप से महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठायें।

राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने दोनों बहनों के साहस की प्रशंसा की जिन्होंने चलती बस में उनसे ‘‘छेड़खानी’’ का प्रयास करने वाले तीन युवकों का विरोध किया। उन्होंने कहा कि लड़कियों को गणतंत्र दिवस के मौके पर नकद पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

कॉलेज में पढ़ने वाली दोनों बहनों ने एक चलती बस में कथित रूप से छेड़खानी करने वाले तीनों युवकों से मुकाबला किया था। दोनों में से एक बहन ने इन युवकों की अपनी बेल्ट से पिटायी भी की थी जबकि उस दौरान बस के यात्री मूक दर्शक बने रहे।

पूरी घटना को बस के एक यात्री ने अपने मोबाइल फोन पर रिकॉर्ड कर लिया और यह वीडियो टेलीविजन और सोशल मीडिया दोनों पर ही फैल गया। इसमें दिख रहा है कि दोनों बहनें तीनों युवकों की पिटायी करने के लिए हाथ और बेल्ट का इस्तेमाल कर रही हैं।

तीनों युवकों कुलदीप, मोहित और दीपक को बाद में गिरफ्तार कर लिया गया और छह दिसम्बर तक रिमांड में भेज दिया गया। रोहतक के पुलिस अधीक्षक शशांक आनंद ने बताया कि बस में बैठे प्रत्यक्षदर्शियों या यात्रियों से अपील की गई है कि वे मामले को उसके तार्किक अंत तक पहुंचाने में पुलिस की मदद करें। उन्होंने कहा कि पुलिस आरोपियों की जल्द दोषसिद्धि के लिए इस मामले को त्वरित सुनवायी अदालत में ले जाने का गंभीर प्रयास करेगी।

आरोपियों के गांव के निवासियों द्वारा कल सड़क जाम करने की धमकी के बारे में पूछे जाने पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कानून का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

पीड़ितों ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि गत शुक्रवार को जब वे अपने कॉलेज जा रही थीं तब हरियाणा रोडवेज की बस में कुछ युवकों ने उनसे ‘‘छेड़खानी’’ की। पीड़ितों ने जब इसका विरोध किया तो एक आरोपी ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया।

इस घटना को लेकर आक्रोश के बीच हरियाणा परिवहन विभाग के महानिदेशक ने बस चालक बलवान सिंह और कंडक्टर लाभ सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश दिया। इस बीच दोनों बहनों के पिता ने आरोप लगाया कि पंचायत की ओर से दबाव है कि लड़कियों को अपनी शिकायत वापस ले लेनी चाहिए।

वहीं रोहतक जिले में आरोपियों के कांसला गांव के निवासियों ने जिला प्रशासन को तीनों लड़कों को 24 घंटे में रिहा करने का अल्टीमेटम दे दिया है। निवासियों का आरोप है कि तीनों के खिलाफ एक झूठी प्राथमिकी दर्ज की गई है जिसे रद्द किया जाना चाहिए।

निवासियों ने संवाददाताओं को बताया कि तीनों लड़कों को ‘‘झूठे ही फंसाया गया है।’’ उन्होंने दावा किया कि यह कथित छेड़छाड़ का नहीं बल्कि विवाद सीटों को लेकर था। उन्होंने दावा किया कि सीटें तीनों लड़कों को आवंटित की गई थीं।

इस घटना पर केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा, ‘‘जो इन बहनों ने किया वह सभी लड़कियों को करना चाहिए। उन्होंने अच्छा किया। लेकिन यह दुख की बात है कि यात्रियों में से कोई भी उनकी मदद के लिए आगे नहीं आया। समाज को अपनी मानसिकता बदलनी होगी और जब ऐसी घटना हो तो लोगों को मात्र मूक दर्शक नहीं बने रहना चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘लड़कियां क्या पहनती हैं, यह मायने नहीं रखता। लोगों को साथ आना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि महिलाओं का सम्मान किया जाए और उनकी प्रतिष्ठा बरकरार रहे।’’

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ललिता कुमारमंगलम ने भी लड़कियों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘‘मैं लड़कियों को बधाई देना चाहूंगी और अधिकारियों से कहूंगी कि उचित कार्रवाई करें। छेड़खानी करने वालों से मुकाबला करने की हिम्मत कुछ लड़कियों में होती है। सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए। मैं सभी भारतीयों से आगे आने की अपील करूंगी।’’

केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस घटना से यह बात सामने आती है कि भारतीय महिलाएं सार्वजनिक स्थानों पर सभी तरह के खतरों का सामना करती हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के मुद्दे को गृह मंत्रालय के साथ उठाया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि इस मुद्दे को लेकर हरियाणा में भाजपा सरकार को निशाने पर लेना उचित नहीं होगा। सरकार नयी है और उसे ‘‘कांग्रेस शासन के दौरान हुए नुकसान की भरपाई में कुछ समय लगेगा।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App