ताज़ा खबर
 

उज्जवला सिंह का खुलासा- ‘अपूर्वा ने राजनैतिक महत्वकांक्षा के चलते रोहित को मार डाला’

उज्जवला सिंह ने बताया कि "जब वह (अपूर्वा) पहली बार हमसे मिलने आयी थी, तभी मैंने रोहित को उसे लेकर आगाह किया था। उसने हमसे पूछा कि क्या वह हमारे घर के एक कमरे में शिफ्ट हो सकती है?

रोहित शेखर मर्डर केस में अपूर्वा को गिरफ्तार कर ले जाती पुलिस। (PTI Photo)

रोहित शेखर की हत्या के आरोप में उनकी पत्नी अपूर्वा शुक्ला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अब रोहित शेखर की मां उज्जवला सिंह ने खुलासा करते हुए बताया कि अपूर्वा शुक्ला राजनीति में उतरना चाहती थी, लेकिन रोहित शेखर ने इस मामले में उसका साथ नहीं दिया और उससे दूरी बना ली थी। 80 साल की उज्जवला सिंह ने टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ बातचीत में बताया कि “उन्हें अभी तक यकीन नहीं हो रहा है कि वह (अपूर्वा) अपनी राजनैतिक महत्वकांक्षा को पूरा करने के लिए इस हद तक चली गई कि उसने अपने पति की ही हत्या कर दी। उसे अगर इतनी ही दिक्कत थी तो वह तलाक ले सकती थी।” उज्जवला सिंह को इस बात का पछतावा है कि उनके बेटे ने एक ऐसी लड़की से शादी की, जिसके साथ उसके जीवन का दृष्टिकोण और सोच मिलती ही नहीं था। एनडी तिवारी की पत्नी उज्जवला सिंह ने बताया कि अपूर्वा और रोहित शादी से पहले से ही साथ रह रहे थे।

उज्जवला सिंह ने बताया कि “जब वह (अपूर्वा) पहली बार हमसे मिलने आयी थी, तभी मैंने रोहित को उसे लेकर आगाह किया था। उसने हमसे पूछा कि क्या वह हमारे घर के एक कमरे में शिफ्ट हो सकती है? काफी ना-नुकर के बाद रोहित इस बात पर सहमत हुआ था। उज्जवला सिंह ने बताया कि उसने हमारी दयालुता को कमजोरी समझा।” उन्होंने बताया कि “वह रोहित की शादी के लिए लड़की की तलाश कर रहीं थी और बेंगलुरु की एक लड़की के माता-पिता के साथ हम मुलाकात करने ही वाले थे कि अपूर्वा ने दावा किया कि वह रोहित की सेहत के लिए प्रार्थना करने मंदिर जाती है। अपूर्वा ने उन्हें एक मौका देने की विनती की, जिसके बाद हमने रोहित की शादी अपूर्वा के साथ करा दी थी।”

उज्जवला सिंह के अनुसार, अपूर्वा इस बात से बेहद नाराज थी कि उन्होंने अपनी संपत्ति में से एक हिस्सा रोहित के चचेरे भाई के नाम किया हुआ था। वह उन पर सारी संपत्ति रोहित के नाम पर करने का दबाव डालती थी। उज्जवला सिंह के अनुसार, उन्होंने अपूर्वा की बात नहीं मानी क्योंकि वह राजीव (चचेरा भाई) को कैसे भूल सकती थीं, जिसने तिवारी जी (एनडी तिवारी) की 40 साल तक सेवा की। बता दें कि बीती 15 अप्रैल की रात को रोहित शेखर की उनके ही घर में गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। जांच में पुलिस को पता चला कि हत्या घर के ही किसी व्यक्ति ने की है। इस पर पुलिस ने घर के लोगों से पूछताछ की। हाल ही में पुलिस ने खुलासा करते हुए बताया कि रोहित शेखर की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उनकी ही पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने की है, जिसके बाद पुलिस ने अपूर्वा को गिरफ्तार कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App