बिहारः सिर पर क्रिकेट हेलमेट, हाथ में मंजीरा लिए विस के बाहर RJD विधायकों का प्रदर्शन, बोले- इसलिए बजा रहे, क्योंकि 17 साल से नीतीश सो रहे हैं

बिहार विधानसभा के मानसून सत्र के पहले दिन ही महागठबंधन के विधायक नीतीश सरकार पर हमलावर दिखे। राजद के विधायक तो सिर पर हेलमेट और हाथ में मंजीरा लेकर सत्र में भाग लेने पहुंचे।

bihar, rjd
बिहार विधानसभा में मंजीरा लाने को लेकर राजद विधायक ने कहा कि ये मंजीरा हम इसलिए बजा रहे है कि क्योंकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पिछले 17 सालों से सो रहे हैं। (फोटो – पीटीआई)

बिहार विधानसभा के मानसून सत्र के पहले दिन राजद विधायक सिर पर हेलमेट पहनकर और हाथ में मंजीरा लेकर सदन पहुंचे। राजद विधायकों ने विधानसभा के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। सोमवार से शुरू हुए मानसून सत्र के पहले दिन शोक प्रस्ताव के बाद सदन को स्थगित कर दिया गया।

हेलमेट पहनकर सदन आए राजद विधायक सतीश दास ने टीवी चैनल न्यूज 24 से बात करते हुए कहा कि आपने देखा था कि किस तरह से बजट सत्र के दौरान विधायकों के साथ अमानवीय व्यवहार किया गया था। लात-घूसों से विधायकों को मारने की साजिश हुई थी।  मॉब लिंचिंग करने की कोशिश हुई थी। उस घटना में हमारे सिर पर चोट लगी थी, जिसके बाद पटना से दिल्ली तक इलाज कराना पड़ा था। इसलिए हमें इस सरकार पर भरोसा नहीं है।

हेलमेट पहने राजद विधायक सतीश दास मंजीरा भी बजा रहे थे। सतीश दास ने मंजीरा के सवाल पर कहा कि ये मंजीरा हम इसलिए बजा रहे है कि क्योंकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पिछले 17 सालों से सो रहे हैं। शिक्षा के सवाल पर आप उनसे पूछिएगा तो उनके पास कोई जवाब नहीं है। स्वास्थ्य के सवाल पर आपने कोरोना में देखा कि लोग ऑक्सीजन चिल्ला-चिल्ला कर मर गए, इनके सचिव रैंक के अधिकारी मर गए, कई विधायक मर गए, लेकिन नीतीश कुमार नहीं जागे। इसलिए हम उनको मंजीरा बजाकर जगाने का काम करेंगे।

मानसून सत्र के पहले दिन की तैयारियों पर मीडिया से बात करते हुए राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि लोहिया जयंती के दिन हमने सदन में काला दिन देखा था। विपक्ष शांति से सदन चलते हुए देखना चाहता है। जनता के मुद्दे को हम सदन में उठाना चाहते हैं। यदि विपक्ष प्रदर्शन करता है तो क्या आप उसे सदन में पुलिस से पिटवाएंगे। जब विपक्ष को सम्मान नहीं मिलेगा तो लोकतंत्र कैसे चलेगा। हमने स्पीकर से 2 प्रपोजल सदन में रखने के लिए अनुमति मांगी थी वो मिल गई है।

  

बता दें कि बजट सत्र के दौरान सदन में जमकर हंगामा हुआ था। पुलिस ने इस दौरान बल प्रयोग भी किया था जिसमें कई विधायक घायल भी हो गए थे। विधायकों से मारपीट के मामले में बिहार पुलिस के 2 कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया था।

अपडेट