ताज़ा खबर
 

बिहार: सदन में BP मशीन लेकर पहुंच गए RJD विधायक, बोले- सवाल पूछो तो गुस्सा हो जाते हैं नीतीश चचा

मुकेश ने कहा कि लगता है कि उनका बीपी बढ़ा हुआ है और हम चाहते हैं कि उनका बीपी कंट्रोल में रहे और हमारे अभिभावक स्वस्थ रहें।

बिहार के महुआ से राजद विधायक मुकेश रौशन (फोटो- ट्विटर/DrMukeshRaushan )

इन दिनों बिहार विधानसभा में बजट सत्र चल रहा है। बीते दिनों बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधान परिषद में चर्चा के दौरान राजद एमएलसी सुबोध राय पर आग बबूला हो गए। नीतीश कुमार के गुस्से का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ। अपने पार्टी के एमएलसी के साथ हुए इस व्यवहार से नाराज होकर राजद विधायक मुकेश रौशन मंगलवार को विधानसभा में बीपी मापने की मशीन लेकर पहुंच गए। जब राजद विधायक से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि नीतीश चचा कुछ भी पूछने पर गुस्सा हो जाते हैं।

महुआ से विधायक मुकेश रौशन से जब पत्रकारों ने पूछा कि यह तो विधानमंडल है और आप आला और बीपी मापने की मशीन लेकर आ गए हैं। इसके जवाब में मुकेश रौशन ने कहा कि हमारे नीतीश चचा आज कल विधानमंडल के सदस्यों और पत्रकारों पर गुस्सा हो जा रहे हैं। कभी नेता प्रतिपक्ष पर गुस्साते हैं तो कभी सदस्यों द्वारा सवाल पूछे जाने पर भी गुस्सा हो जाते हैं। लोग बिहार की हकीकत को दिखा रहे हैं लेकिन उन्हें गुस्सा आ रहा है। 

आगे मुकेश ने कहा कि लगता है कि उनका बीपी बढ़ा हुआ है और हम चाहते हैं कि उनका बीपी कंट्रोल में रहे और हमारे अभिभावक स्वस्थ रहें। साथ ही मुकेश ने कहा कि जब से नीतीश कुमार 43 सीट पर सिमट गए हैं तब से उनका गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है। इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि हम जैसे क्लिनिक में रोगी की बीपी जांच करते हैं उसी तरह उनके बीपी की भी जांच करेंगे। हम इलेक्ट्रॉनिक मशीन लेकर आये हैं क्योंकि आजकल लोग डिजिटल इंडिया की बात करते हैं।

बता दें कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राजद के विधान परिषद सदस्य सुबोध राय पर सदन में ही गुस्सा हो गए थे। उन्होंने सभापति से कहा था कि आप ऐसे विधान परिषद सदस्यों को नियम के बारे में जानकारी दीजिए। दरअसल बिहार विधान परिषद में एमएलसी मो फारूख के सवाल पर मंत्री जयंत राज सदन में जवाब दे रहे थे। उसी दौरान राजद नेता सुबोध राय ने मंत्री के साथ सवाल जवाब शुरु कर दिया। जिससे सदन में मौजूद रहे नीतीश कुमार नाराज हो गए। उन्होंने सुबोध राय से यहां तक कह दिया कि पहले नियम सीखिए उसके बाद कुछ बोलिए।

मुख्यमंत्री ने सभापति अवधेश नारायण सिंह से कहा कि ऐसे सदस्यों को नियम के बारे में बताया जाना चाहिए। नीतीश कुमार ने सुबोध राय को डांट लगाते हुए जवाब सुनने की सलाह भी दे डाली। उन्होंने कहा कि आपको बीच में इस तरह से बोलना नहीं चाहिए। इसलिए बैठ जाइए। सदन से बाहर आने के बाद सुबोध राय ने मीडिया के सामने कहा था कि सीएम नीतीश कुमार पर बढ़ते उम्र का असर हो रहा है। इसलिए वो अक्सर गुस्सा हो जाते हैं।

Next Stories
1 1 अगस्त, 2019 के बाद 600 से अधिक लोग लिए गए थे हिरासत में- केंद्र ने LS में बताया
2 पश्‍च‍िम बंगाल व‍िधानसभा चुनाव: दो द‍िग्‍गजों से म‍िला बीजेपी को इनकार, तब हुआ म‍िथुन से इकरार?
3 भ्रष्टाचार भारत की कुंडली में, नहीं कर सकते खत्म- राजस्थान विस में चर्चा के दौरान बोले मंत्री
ये पढ़ा क्या?
X