कोरोना के बीच गायब हो गए? प्रभु चावला ने पूछा सवाल तो तेजस्वी बोले- लॉकडाउन में फंस गया था

राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि हमने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से चिट्ठी लिखकर कहा कि अगर आप कोरोना काल में नहीं निकल रहे हैं तो हमें निकलने दो।

tejashwi yadav, rjd
राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि पिछली बार कोरोना काल के दौरान जब हम बाहर निकले तो सरकार ने मुक़दमे कर दिए थे। बेरोजगारी के मुद्दे पर निकले तो हम पर 307 का मुकदमा कर दिया गया। (एक्सप्रेस फोटो)

कोरोना काल के दौरान राजद नेता तेजस्वी यादव के बिहार से गायब रहने की खबर सामने आई थी और इसको लेकर विपक्षी दलों के नेताओं ने चुटकी भी ली थी। आजतक न्यूज चैनल पर आयोजित सीधी बात कार्यक्रम में जब एंकर प्रभु चावला ने राजद नेता तेजस्वी यादव से गायब रहने को लेकर सवाल पूछा तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि लॉकडाउन में फंस गया था।

दरअसल एंकर प्रभु चावला ने राजद नेता तेजस्वी यादव से सवाल पूछा कि आपके बारें में अख़बार में पढ़ा कि आप पार्ट टाइम राजनीति करते हैं। आप पर यह आरोप लगा कि जब कोरोना की दूसरी लहर आई तो आप गायब थे। इसके जवाब में राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि आरोप तो लगते रहते हैं। आरोप लगाने वाले कौन हैं..जिनको सत्ता में रहकर काम करना चाहिए था। मुख्यमंत्री कहां नजर आए..एक अणे मार्ग के बाहर तो नजर नहीं आए।

आगे तेजस्वी यादव ने कहा कि अस्पतालों और ऑक्सीजन की क्या स्थिति थी। आपको जो नजर आया सिर्फ राजद के लोग नजर आए। हमने तो मुख्यमंत्री से चिट्ठी लिखकर कहा कि अगर आप नहीं निकल रहे हैं तो हमें निकलने दो। पिछले बार निकले थे तो कितने मुक़दमे कर दिए। बेरोजगारी के मुद्दे पर निकले तो हम पर 307 का मुकदमा कर दिया गया।  

इसके बाद जब प्रभु चावला ने कहा कि यह सच है कि नहीं कि तेजस्वी यादव बिहार छोड़ कर ही चले गए। इसके जवाब में तेजस्वी यादव ने कहा कि हम बिहार से कैसे जा सकते हैं। उस दौरान लालू यादव की तबीयत ख़राब हो गई थी और हम उनके पास चले गए थे। लेकिन दो दिन बाद लॉकडाउन लग गया। अब लॉकडाउन का पालन तो करना ही पड़ेगा। लेकिन हमने अनुमति भी मांगी थी। 

इंटरव्यू के दौरान तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला। प्रभु चावला ने जब उनसे नीतीश कुमार के अनुभव को लेकर सवाल पूछा तो तेजस्वी ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी 40 सीटों पर सिमट कर रह गई। पंद्रह साल से मुख्यमंत्री हैं इसके बाद भी उन्हें तथाकथित तौर पर विश्व की सबसे बड़ी पार्टी के साथ चुनाव लड़ना पड़ा तो ऐसे अनुभव का क्या फायदा।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट