ताज़ा खबर
 

जब लालू प्रसाद यादव ने महिलाओं पर की थी टिप्पणी, कहा- रामचरित मानस में ढूंढवाई चौपाई, सही निकली बात

राजद नेता लालू प्रसाद यादव ने एक किस्सा सुनाते हुए बताया कि जब मैंने 2004 में कहा कि सोनिया गांधी को प्रधानमंत्री बनाया जाए तो सबलोग मुझे पागल कहा करते थे।

lalu yadav, lalu yadav life, lalu yadav comment, sonia gandhiRJD नेता लालू प्रसाद यादव ने साल 2004 में रामचरित मानस की एक चौपाई सुनाते हुए एक महिला नेता पर टिप्पणी की थी, जिसके बाद काफी हंगामा मच गया था। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः प्रशांत रवि)

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव अपनी बेबाकी और मजेदार अंदाज के लिए जाने जाते हैं। छात्र आंदोलन से निकले राजनेता लालू प्रसाद यादव के जीवन में कई ऐसे किस्से हैं जब उन्होंने लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा है। एक बार लालू प्रसाद यादव ने रामचरित मानस की चौपाई कहकर महिलाओं पर टिप्पणी की थी। टिप्पणी करने के बाद उन्होंने कहा था “इसके लिए मैंने प्रतिक्रिया देने के बाद वह चौपाई अपने नेता से ढूंढवाई थी जो सही निकली थी।”

आज तक चैनल पर आयोजित कार्यक्रम में राजद नेता लालू प्रसाद यादव ने एक किस्सा सुनाते हुए कहा कि 2004 में कांग्रेस पार्टी के चुनाव जीतने के बाद प्रधानमंत्री पद को लेकर काफी सोच विचार चल रहा था। कई लोग सोनिया गांधी के प्रधानमंत्री बनने के सवाल पर कहते थे कि वो विदेशी हैं। इतना ही नहीं कुछ लोगों ने तो यहां तक कह दिया था कि अगर सोनिया गांधी प्रधानमंत्री बनेंगी तो वो अपना सिर मुंडवा लेंगी। लेकिन मैंने(लालू) कहा कि कौन कह रहा है कि सोनिया गांधी विदेशी हैं बल्कि वो तो इस देश की बहू हैं। यहां तक कि जब मैंने कहा कि सोनिया गांधी को ही इसबार प्रधानमंत्री बनाया जाए तो सबलोग इसके लिए मुझे पागल तक कहा करते थे।

आगे लालू प्रसाद यादव ने कार्यक्रम में कहा कि आखिरकार सबको मानना पड़ा और अंत में सबने सोनिया गांधी को प्रधानमंत्री बनाने को लेकर अपना लिखित समर्थन दिया। लेकिन इसी बीच एक दिन सोनिया गांधी मेरे आवास पर आईं और उन्होंने प्रधानमंत्री बनने से इंकार कर दिया। सोनिया जी मुझसे कहनें लगीं कि सभी ने मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री बनाने का निर्णय लिया है। लेकिन मैंने उनके सामने ही मनमोहन सिंह को समर्थन देने से इंकार कर दिया। फिर मैंने सोनिया गांधी से कहा कि आप कम से कम एक-दो घंटे के लिए भी प्रधानमंत्री बनिए, लेकिन अंततः वह नहीं बनीं।

इसके बाद लालू प्रसाद यादव कार्यक्रम में कहने लगे कि एक महिला लीडर जिनका नाम मैं नहीं लेना चाहता हूं उन्होंने उस समय कहा था कि अगर सोनिया गांधी प्रधानमंत्री बनेंगी तो मैं अपना बाल मुंडवा लूंगी। इसपर मैंने(लालू) प्रतिक्रिया देते हुए रामचरित मानस की एक चौपाई कही जिसका अर्थ होता कि नारी चाहे जितनी भी काली कलूटी हो वह अपने सामने किसी भी सुंदर नारी को पसंद नहीं कर सकती है। आगे लालू यादव ने कहा कि हमने इस चौपाई को कहीं सुना था तो प्रतिक्रियावश कह दिया था। लेकिन बाद में इसके लिए रातभर मैंने अपने एक नेता को कहकर वह चौपाई रामचरित मानस में ढूंढवाई। ताकि इसके लिए मेरी फजीहत ना हो जाए। हालांकि बाद में यह सच निकला और वह चौपाई रामचरित मानस में मौजूद थी।

बता दें कि साल 2004 में कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की थी और सोनिया गांधी के प्रधानमंत्री बनने की चर्चाएं काफी तेज थीं। उस वक्त सुषमा स्वराज का अलग ही रूप नजर आया था। उन्होंने ऐलान किया था कि अगर सोनिया गांधी प्रधानमंत्री बनती हैं तो मैं अपने पद से त्याग पत्र दे दूंगी। साथ ही, अपने बाल कटवाकर पूरा जीवन भिक्षुक की तरह बिताऊंगी। रंगीन वस्त्र छोड़कर सफेद कपड़े पहनूंगी और जमीन पर सोऊंगी।

Next Stories
1 आपत्ति के बावजूद CJI ने बुलाई कॉलीजियम की बैठक, पर नहीं बनी बात
2 उत्तराखंडः 51 बड़े मंदिर देवस्थानम बोर्ड से होंगे बाहर- CM तीरथ रावत का ऐलान
3 जब सोहराबुद्दीन एनकाउंटर के बाद अमित शाह को भी जाना पड़ा था जेल, दो साल रहे गुजरात से बाहर
यह पढ़ा क्या?
X