ताज़ा खबर
 

बन आंकड़ों का दर्ज़ी, घटा- बढ़ा दिया मनमर्जी, लालू यादव ने नीतीश को मारा ताना

लालू प्रसाद से पहले विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार फर्जी है तो आंकड़ें भी तो फर्जी ही होंगे।

लालू प्रसाद यादव ने नीतीश कुमार पर बोला हमला (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

बिहार में कोरोना से हुई मौत के आंकड़ों को सरकार ने फिर से ऑडिट कर रिकॉर्ड में शामिल किया है। जिसे लेकर अब विपक्षी दलों की तरफ से सरकार पर हमले तेज हो गए हैं। राजद नेता लालू प्रसाद ने ट्वीट कर कहा है कि बन आंकड़ों का दर्ज़ी घटा-बढ़ा दिया मनमर्ज़ी। फर्ज भुला नीतीश बने फ़र्जी, अपार हुई जग हंसाई, फिर भी शर्म ना आई।

बताते चलें कि लालू प्रसाद से पहले विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार फर्जी है तो आंकड़ें भी तो फर्जी ही होंगे। उन्होंने ट्वीट किया कि नीतीश जी, इतनी झूठ मत बोलिए और बुलवाइए कि उसके बोझ तले दबने के बाद कभी उठ ना पाएं। जब फंसे तो एकदम से एक दिन में 4000 मौतों की संख्या बढ़ा दी। नीतीश सरकार मौतों का जो आंकड़ा बता रही है उससे 20 गुणा अधिक मौतें हुई है। नीतीश सरकार ही फ़र्जी है तो आंकड़े भी तो फ़र्जी होंगे।

पूरे मामले को लेकर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाडेय ने कहा है कि सरकार ने कोई नंबर नहीं छुपाया है। बल्कि नियमों के साथ सभी के सामने रखा है। हमने हर जिलों में कमेटी बनायी थी और ऑडिट कर आंकड़ों को सामने लाया गया।

कैसे बदले आंकड़े?: स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि बुधवार को जारी किए गए आंकड़े में होम आइसोलेशन, कोविड केयर सेंटर, प्राइवेट अस्पताल और अस्पताल पहुंचने के दौरान होने वाली मौतों को भी शामिल किया गया है। बिहार के चार बड़े सरकारी अस्पतालों में ही दो महीने में 1470 लोगों की कोरोना से मौत बताई गई। जब कि अंतिम संस्कार की बात करें तो केवल तीन श्मशान पर 3 हजार से ज्यादा शव जलाए गए।

बताते चलें कि खबरों के अनुसार अभी जारी किया गया आंकड़ा भी सटीक नहीं है। अगर फिर से संशोधन होता है तो यह आंकड़ा और भी बढ़ सकता है। राजधानी पटना के ही ऐसे कई अस्पताल हैं जिन्होंने अब तक पूरा डेटा उपलब्ध नहीं करवाया है। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 94,052 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,91,83,121 हो गई।

Next Stories
1 रामदेव बोले, लगवाऊंगा कोरोना वैक्सीन, अच्छे डॉक्टर ईश्वर के दूत होते हैं
2 क्या मोदी को हराने के लिए भी करेंगे काम? प्रशांत किशोर से पूछा गया सवाल तो दिया था यह जवाब
3 ‘कांग्रेस को बड़ी सर्जरी की जरूरत’, जितिन प्रसाद के इस्तीफे पर बोले वीरप्पा मोइली, सिब्बल ने कहा- पार्टी बदलना मरने के बाद ही संभव
ये  पढ़ा क्या?
X