ताज़ा खबर
 

‘जर्जर का मर्जर’ है राजद-जद (एकी) गठजोड़: पासवान

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने बिहार में सियासी समीकरण बदलने वाले राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और जनता दल (एकी) गठबंधन को ‘जर्जर का मर्जर’ करार देते हुए दावा किया कि है इससे भाजपा नीत राजग...

Author June 17, 2015 8:51 AM
रामविलास पासवान ने कहा कि राजद, जद (एकी) और कांग्रेस से टिकट चाहने वाले निराश लोगों की नाराजगी हमारे लिए वरदान साबित होगी।

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने बिहार में सियासी समीकरण बदलने वाले राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और जनता दल (एकी) गठबंधन को ‘जर्जर का मर्जर’ करार देते हुए दावा किया कि है इससे भाजपा नीत राजग को ही फायदा ही होगा।

पासवान ने मंगलवार को एक बातचीत में यह बात कही। उन्होंने कहा कि राजद, जद (एकी) और कांग्रेस से टिकट चाहने वाले निराश लोगों की नाराजगी हमारे लिए वरदान साबित होगी। राजग बिहार विधानसभा चुनाव में तीन चौथाई सीटें हासिल कर लेगा। राजग के घटक दल लोजपा प्रमुख ने कहा कि इन दलों में सीटों के बंटवारे के आधार पर टिकट दिए जाएंगे इसलिए जिन लोगों को टिकट नहीं मिलेगा, वे बगावत कर इन्हीं दलों के वोट काटेंगे। इससे हमारा ही फायदा होगा।

उन्होंने कहा कि मुसलिम, यादव और कुर्मी मतदाता जद (एकी) से नाराज हैं। राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव खुद यादवों को ही काबू में नहीं कर सकते। नीतीश कुमार भी कुर्मी मतदाताओं में अपना रुतबा खो चुके हैं। लंबे समय तक तल्खी रखने के बाद उनके लालू यादव के साथ गठबंधन करने से मतदाताओं में बहुत खराब संकेत गया है। लालू और नीतीश इसलिए एकजुट हुए हैं क्योंकि उन्होंने समझ लिया है कि उनकी ताकत चुक गई है।

लालू और नीतीश पर पिछले 25 साल के दौरान बिहार में शासन कर उसे बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए पासवान ने कहा कि लालू, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और नीतीश कुमार ने मिलकर बिहार पर 25 साल तक राज किया और नतीजा सबके सामने है।

उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव से पहले राजद और जद (एकी) गठबंधन महज नौटंकी है। दोनों का एकजुट होना मीडिया के सामने दिखावे के लिए है। दरअसल वे दोनों (लालू और नीतीश) हाथों में खंजर लेकर गले मिलेंगे और एक-दूसरे की पीठ में घोंपेंगे। उन्होंने कहा- कहां है गठबंधन। इस गठबंधन में मुलायम सिंह यादव कहां हैं। उसका नाम, उसका झंडा और चुनाव चिह्न क्या है।

बिहार का मुख्यमंत्री बनने की इच्छा के बारे में पूछे जाने पर पासवान ने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह और अटल बिहारी वाजपेयी ने बहुत पहले उन्हें इसका प्रस्ताव दिया था लेकिन उन्होंने राष्ट्रीय राजनीति को ही चुना। यह पूछे जाने पर कि बिहार विधानसभा चुनाव में राजग की तरफ से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार कौन होगा, उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी राजग के नेता हैं, वह जिसे भी मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाएंगे, वह हम सभी को मान्य होगा। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के भाजपा से हाथ मिलाने के बारे में पूछने पर पासवान ने कहा कि मांझी को बिहार का मुख्यमंत्री बनने का ख्वाब पालने से पहले यह जताना होगा कि मोदी ही उनके नेता हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App