ताज़ा खबर
 

ट्रेन में बिगड़ी लालू की तबीयत, आनन-फानन में आए डॉक्टर, 15 मिनट गाड़ी रोक लगाया इंजेक्शन

चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू यादव को सीने में दर्द और बेचैनी की समस्या के बाद 29 मार्च को एम्स में भर्ती कराया गया था। उन्हें किडनी इन्फेक्शन था और क्रिटनीन बढ़ा हुआ था।

राजद अध्यक्ष लालू यादव को एम्स ने आज (30 अप्रैल) को डिस्चार्ज कर दिया है। उन्हें कड़ी सुरक्षा में व्हील चेयर पर एम्स के रूम नंबर 101 से बाहर लाया गया।

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद अध्यक्ष लालू यादव आज (01 मई) राजधानी एक्सप्रेस से नई दिल्ली से रांची पहुंच गए हैं। उन्हें रिम्स में भर्ती कराया गया है। कल ही एम्स ने उन्हें डिस्चार्ज कर रिम्स रेफर कर दिया था लेकिन रांची आने के दौरान बीच रास्ते में ही उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। आनन-फानन में कानपुर रेलवे स्टेशन पर दो डॉक्टरों ने उनकी जांच की तो पता चला कि उनका शूगर लेवेल काफी बढ़ा हुआ है। इसके बाद उन्हें इन्सूलिन का इंजेक्शन लगाया गया। लालू का शूगर लेवेल 200 के करीब था। उनका ब्लड प्रेशर भी बढ़ा हुआ था। लालू के इलाज की वजह से कानपुर में राजधानी करीब 15 मिनट तक रुकी रही। लालू यादव फर्स्ट क्लास कोच एच-1 में सफर कर रहे थे। जैसे ही ट्रेन कानपुर स्टेशन पहुंची, ट्रेन को पुलिस ने चारों ओर से घेर लिया।

पूरी यात्रा के दौरान लालू कड़ी सुरक्षा में थे। कानपुर पहुंचने पर मीडिया का भी जमावड़ा लग गया लेकिन किसी को भी ट्रेन में घुसने की इजाजत नहीं दी गई। बता दें कि डिस्चार्ज की खबर सुनते ही लालू ने एम्स प्रशासन को चिट्ठी लिखकर कहा था कि उनकी तबीयत ठीक नहीं है। उन्हें अभी चक्कर आता है, बाथरूम में भी गिर चुके हैं लेकिन एम्स में डॉक्टरों के पैनल ने उन्हें दुरुस्त बताते हुए रिम्स रेफर कर दिया। लालू ने इसे साजिश बताया है। उन्होंने अपने पत्र में ये भी लिखा था कि अगर उन्हें कुछ होता है तो इसकी जिम्मेदारी एम्स की होगी।

 

चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू यादव को सीने में दर्द और बेचैनी की समस्या के बाद 29 मार्च को एम्स में भर्ती कराया गया था। उन्हें किडनी इन्फेक्शन था और क्रिटनीन बढ़ा हुआ था। इसके अलावा लालू को डायबिटीज, बीपी और हार्ट की भी समस्या है। 70 साल के लालू पिछले साल 23 दिसंबर से ही रांची की जेल में बंद हैं। इधर, रांची पहुंचते ही प्रशासन ने उन्हें तुरंत रिम्स पहुंचाया। अस्पताल के बाहर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गई थी। लालू को कार्डियलॉजी विभाग में रखा गया है। रिम्स सूत्रों के मुताबिक वहां बिना आइडेंटिटी कार्ड के किसी को भी जाने की अनुमति नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App