ताज़ा खबर
 

पब्‍ल‍िक टॉयलेट का नाम खुद पर रखे जाने पर ऋषि कपूर का पलटवार, जानें कांग्रेसियों को क्‍या कहा

ऋषि कपूर ने कुछ दिन पहले इस बारे में बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया था कि कांग्रेस के शासनकाल में देश की सभी संपत्तियों के नाम गांधी परिवार के लोगों पर रखे गये।

Author मुंबई | May 25, 2016 21:08 pm
ऋषि कपूर ने कहा कि वह नेहरू-गांधी परिवार के विरुद्ध नहीं हैं ।

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में एक सार्वजनिक शौचालय का नाम अपने नाम पर रखे जाने की खबरों से अभिनेता ऋषि कपूर परेशान नहीं हैं और इस बारे में जानकर वह खुश हैं कि कम से कम वह किसी के लिए कहीं तो काम आएंगे। 63 साल के ऋषि कपूर ने कुछ दिन पहले इस बारे में बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया था कि कांग्रेस के शासनकाल में देश की सभी संपत्तियों के नाम गांधी परिवार के लोगों पर रखे गये।

बयान के बाद नाराज हुए कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने इलाहाबाद में पिछले दिनों एक सार्वजनिक शौचालय का नाम ऋषि कपूर के नाम पर रख दिया।

इस बारे में जब ऋषि कपूर से पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘मैं खुश हूं। कम से कम मैं किसी के कुछ काम आऊंगा। ये लोग (कांग्रेस समर्थक) किसी के काम के नहीं हैं। मुझे इस बात पर गर्व है कि सुलभ शौचालय का नाम मेरे नाम पर रखा गया है क्योंकि यह फिलहाल प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी परियोजना है।’’

हालांकि ऋषि कपूर ने कहा कि वह नेहरू-गांधी परिवार के विरुद्ध नहीं हैं लेकिन अपने परिवार के लोगों के नाम भुनाने वाले लोगों से उन्हें दिक्कत है। उनके हवाले से कहा गया, ‘‘गंभीरता से कहूं तो मुझे वाकई इस बात में कोई दिलचस्पी नहीं है कि वे क्या करते हैं। वे शायद समझे नहीं कि मैंने अपने ट्वीट से क्या कहा। नेहरू या गांधी परिवार के खिलाफ मेरे मन में कुछ नहीं है। मैं उस परिवार के लोगों के नाम का इस्तेमाल करने वालों के खिलाफ हूं।’’

Read Also: गांधी परिवार पर हमला बोलने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ऋषि कपूर के नाम किया सुलभ शौचालय

ऋषि ने कहा, ‘‘मैं जो कह रहा हूं, वह राष्ट्रीय महत्व की बात है। लोगों को हर चीज का नाम दो परिवारों के लोगों पर रखने की मूर्खता को समझना चाहिए। यह केवल देश के एक नागरिक का अनुभव है और मुझे अपनी बात रखने का पूरा हक है। मैं जानता हूं कि मैंने कुछ कांग्रेसियों को नाराज कर दिया है लेकिन वे मेरी बात का गलत मतलब समझे।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App