RIL में मुकेश अंबानी के दाएं हाथ हैं ये दिग्गज, जानें- बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में है कौन-कौन?

नीता, मुकेश की पत्नी होने के साथ ही कारोबार में भी उनका खासा हाथ बंटाती हैं। वह मुंबई इंडियंस (आईपीएल टीम) की को-ओनर और सर एच.एन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर का कामकाज भी प्रमुखता से देखती हैं।

Mukesh Ambani, RIL, MumbaiRIL चेयरमैन मुकेश अंबानी की कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में पत्नी नीता अंबानी भी हैं। (फोटोः www.ril.com/एक्सप्रेस आर्काइव)

जाने-माने कारोबारी और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के चैयरमैन व मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी भले ही आज किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। पर कम ही लोग उनके साथ काम करने वालों को जानते हैं, जो कि अंबानी के लिए उनके दाएं हाथ जैसे कहे जा सकते हैं। रिलायंस के कारोबार को आगे बढ़ाने, उससे जुड़ी नीतियां तैयार कराने में इन लोगों का अहम योगदान रहता है। आइए, जानते हैं कि RIL के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में कौन-कौन है:

नीता अंबानीः वह मुकेश की पत्नी हैं। साथ ही बोर्ड में नॉन एग्जिक्यूटिव, नॉन-इंडिपेंडेंट डायरेक्टर हैं। मुंबई विवि से वह कॉमर्स में स्नातक हैं, जिसके बाद उन्होंने अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन में डिप्लोमा किया था। वह इसके अलावा रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक और चेयरपर्सन भी हैं। इतना ही नहीं, नीता मुंबई इंडियंस (आईपीएल टीम) की को-ओनर और सर एच.एन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर का कामकाज भी प्रमुखता से देखती हैं।

हितल आर मेसवानीः मैनेजमेंट और टेक्नोलॉजी स्ट्रीम से ग्रैजुएट मेसवानी बोर्ड में कार्यकारी निदेशक (एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर) हैं। उन्होंने अपनी पढ़ाई अमेरिका के पेंसिलवेनिया से की है। बाद में उन्होंने व्हारटन बिजनेस स्कूल से बैचलर ऑफ साइंस डिग्री इन इकनॉमिक्स हासिल की। फिर 1990 में उन्होंने आरआईएल ज्वॉइन क। वह रसिकलाल मेसवानी के बेटे हैं, जो कि कंपनी के संस्थापक निदेशकों में से एक हैं। हितल कंपनी के पेट्रोलियम रिफाइनिंग और मार्केटिंग बिजनेस, पेट्रोकेमिकल मैन्युफैक्चरिंग समेत कई और कॉरपोरेट काम देखते हैं।

निखिल आर मेसवानीः यह भी रसिकलाल के बेटे हैं और पेशे से केमिकल इंजिनियर हैं। 1986 में वह अंबानी की कंपनी का हिस्सा बने और दो साल 1 जुलाई 1988 से वह कंपनी में व्होल टाइम डायरेक्टर हैं। फिलहाल वह बोर्ड में हैं और उनका पद एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर है। वह कंपनी के पेट्रोकेमिकल डिविजन के लिए मुख्यतः जिम्मेदार रहते हैं।

पीएमएस प्रसादः 21 अगस्त 2009 से कंपनी में व्होल टाइम डायरेक्टर हैं और फिलहाल बोर्ड में कार्यकारी निदेशक हैं। वह कंपनी के साथ करीब 38 साल काम कर चुके हैं और फाइबर, पेट्रोकेमिकल, रिफाइनिंग और मार्केटिंग आदि डिविजन्स में वरिष्ठ पदों पर रह चुके हैं। वह कंपनी की हेल्थ, सेफ्टी और पर्यावरण समिति के साथ रिस्क मैनेजमेंट कमेटी के सदस्य भी हैं। उन्होंने उसमानिया विवि से साइंस और अन्ना विवि से इंजीनियरिंग का पढ़ाई की है।

पीके कपिलः पूरा नाम- पवन कुमार कपिल है, जो 16 मई, 2010 से व्होल टाइम डायरेक्टर हैं। केमिकल इंजीनियरिंग की पृष्ठभूमि से आने वाले कपिल के पास पेट्रोलियम रिफाइनिंग उद्योग के क्षेत्र में पांच दशक का अनुभव है और उन्होंने 1996 में रिलायंस ज्वॉइन की थी। उन्होंने कंपनी के जामनगर कॉम्पलेक्स में कमिश्निंग और स्टॉर्ट अप का काम संभाला था। वह इससे पहले इंडियन ऑइल कॉरपोरेशन में भी रह चुके हैं।

रघुनाथ ए माशेलकरः वह जाने-माने वैज्ञानिक और राष्ट्रीय स्तर के रिसर्च प्रोफेसर हैं। 11 साल तक उन्होंने काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च में डीजी की भूमिका निभाई, जिसकी 38 लैब और करीब 20000 कर्मचारी हैं। वह इसके अलावा इंडियन नेशनल साइंस एकैडमी, इंस्टीट्यूशन ऑफ केमिकल इंजीनियर (यूके) और ग्लोबल रिसर्च अलाइंस में पूर्व अध्यक्ष भी रह चुके हैं। मौजूदा समय में वह अंबानी की कंपनी में Reliance Innovation Council, KPIT Technologies Innovation Council, Persistent Systems Innovation Council व Marico Foundation’s Governing Council के अध्यक्ष हैं।

आदिल जैनुभाईः मुंबई में पले-बढ़े जैनुभाई पेशे से मकैनिकल इंजीनियर हैं। उन्होंने आईआईटी से पढ़ाई की थी, जबकि हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से एमबीए किया था। मैकिंजी एंड कंपनी, इंडिया में अध्यक्ष पद पर भी रहे। वैसे, वह Quality Council of India (QCI), Network18 Media & Investments Ltd. और TV18 Broadcast Ltd. के अध्यक्ष हैं। साथ ही Reliance Jio Infocomm Ltd. (RJIL), Reliance Retail Ventures Ltd. (RRVL), Larsen & Toubro Ltd., Cipla Ltd. के डायरेक्टर हैं।

दीपक सी जैनः गुवाहाटी विवि और अमेरिका के डैलस स्थित टेक्सस विवि से पढ़े हैं। टीचर और स्कॉलर रहे हैं। बोर्ड में वह स्वतंत्र निदेशक होने के साथ John Deere & Company (US), Reliance Retail Ventures Ltd., Reliance Retail Ltd. और Reliance Jio Infocomm Ltd के डायरेक्टर हैं, जबकि Audit Committee, Corporate Social Responsibility Committee व Nomination & Remuneration Committee of Reliance Retail Ventures Ltd और Audit Committee and Nomination & Remuneration Committee of Reliance Jio Infocomm Ltd. के सदस्य हैं।

योगेंद्र पी तिवारीः सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिसिंग सीनियर वकील तिवारी सीबीआई और देना बैंक सरीखे बैंक्स में डायरेक्टर के तौर पर काम कर चुके हैं। वर्तमान समय में कई संस्थाओं में अहम पद पर हैं। साथ ही रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड में स्वतंत्र निदेशक हैं।

रमिंदर एस गुजरालः इकनॉमिक्स ऑनर्स में बीए, आईआईएम अहमदाबाद से एलएलबी और एमबीए के साथ यूएस के फ्लेचर स्कूल से एम करने वाले गुजराल भारत सरकार में भी रह चुके हैं। 2013 में वह वित्त सचिव के पद से रिटायर हुए थे। वह इसके अलावा और भी सरकारी विभागों में अहम पदों पर काम कर चुके हैं। बाद में उन्होंने गौतम अडानी की अडानी पावर लिमिटेड की कंपनियों में भी सेवाएं दीं। कंपनी में स्वतंत्र निदेशक होने के साथ वह Adani Power Limited, Adani Green Energy Limited, Jio Platforms Limited and Adani Power (Mundra) Limited में इंडिपेंडेंट डायरेक्टर हैं। वह इसके अलावा Audit Committee and Chairman of the Nomination & Remuneration Committee of Adani Power Limited; Audit, Nomination & Remuneration and Corporate Social Responsibility committees of Adani Green Energy Limited and Chairman of Audit Committee of Jio Platforms Limited के सदस्य हैं।

शुमीत बनर्जीः रिलायंस में वह स्वतंत्र निदेशक हैं। साथ ही Human Resources, Nomination and Remuneration, Corporate Social Responsibility व Governance and Risk Management committees के सदस्य हैं। वह शिकागो यूनिवर्सिटी के ग्रैजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस में फैकल्टी सदस्य भी रहे हैं।

अरुंद्धति भट्टाचार्यः देश के सबसे बड़े बैंक SBI की 2013 से 2017 तक चेयरमैन रह चुकी हैं। उन्हें बैंकिंग क्षेत्र में तकरीबन 40 साल का अनुभव है। 2016 में उन्हें ‘फोर्ब्स’ ने दुनिया की सबसे ताकतवर महिलाओं में शामिल किया था। इसके अलावा भी वह कई टॉप और प्रतिभाशाली लोगों की सूचियों में शामिल की जा चुकी हैं। मौजूदा समय में वह रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड में स्वतंत्र निदेशक हैं।

केवी चौधरीः चेन्नई स्थित लोयोला कॉलेज से गणित में स्तानक और आईआईटी चेन्नई से पीजी करने वाले चौधरी ने आंध्र बैंक में प्रोबेश्नरी ऑफिसर के तौर पर अपने करिअर की शुरुआत की थी। बाद में वह इंडियन रेव्यन्यू सर्विसेज (1978) में चले गए। वह इसके अलावा सीबीडीटी में भी कई पदों पर रहे। Reliance Industries Limited में चौधरी Stakeholders’ Relationship Committee, Audit Committee, Risk Management Committee and Human Resources, Nomination and Remuneration Committee के सदस्य हैं।

Next Stories
1 सैन्य ताकत में चीन ने अमेरिका को पछाड़ा, दुनिया में पहले नंबर पर पहुंचा; लिस्ट में भारत कहां?
2 बंगाल चुनावः शुभेंदु के पिता शिशिर अधिकारी बने भाजपाई, अमित शाह की मौजूदगी में ली पार्टी सदस्यता
3 मेहता, सुब्रह्मण्यम के इस्तीफे पर AU ने कबूली खामियों की बात, कहा- उनके जाने से शून्य पैदा हुआ, भरना मुश्किल होगा
आज का राशिफल
X