ताज़ा खबर
 

ईडी के जिस अफसर ने पी. चिदंबरम को बनाया आरोपी नंबर-1, उसके खिलाफ शुरू हुई अवैध कमाई की जांच

भाजपा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा है कि अगर ईडी से राजेश्वर सिंह की विदाई हो जाती है तो एयरसेल-मैक्सिस मामले समेत वह पी चिदंबरम के खिलाफ अपनी सभी याचिका वापस ले लेंगे।

Author October 26, 2018 5:29 PM
प्रवर्तन निदेशालय के संयुक्त निदेशक राजेश्वर सिंह। (फाइल फोटो)

एयरसेल-मैक्सिस और 2जी घोटाले केस में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम को आरोपी बनाने वाले प्रवर्तन निदेशालय के बड़े अधिकारी राजेश्वर सिंह खुद मुसीबतों में घिर गए हैं। केंद्र सरकार ने सिंह के खिलाफ अवैध कमाई के आरोपों की जांच शुरू की है। सिंह पर लगे आरोपों की जांच राजस्व विभाग के अधिकारी कर रहे हैं। इसी साल 27 जून को सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को राजेश्वर सिंह के खिलाफ जांच करने की इजाजत दी थी। सिंह को सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा का नजदीकी माना जाता है, जिन्हें जबरन छुट्टी पर भेजा गया है। यह भी संयोग की बात है कि ईडी के संयुक्त निदेशक राजेश्वर सिंह के खिलाफ जांच तब शुरू हुई, जब आलोक वर्मा ने केंद्र सरकार के फैसले का विरोध करते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को भी आलोक वर्मा की तरह जबरन छुट्टी पर भेजा गया है। इन दोनों अधिकारियों के बीच घुसखोरी को लेकर जंग चल रही थी। केंद्र सरकार ने मामले की जांच सीवीसी को सौंपी है। तब तक एम नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनाया है। इस बीच मौजूदा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के प्रमुख और आईपीएस अफसर करनाल सिंह की सेवा शुक्रवार (26 अक्टूबर) को समाप्त हो गया। सूत्रों के मुताबिक उन्हें इस पद पर सेवा विस्तार मिलने की संभावना नहीं है। बता दें कि राजेश्वर सिंह के खिलाफ रजनीश कपूर ने सुप्रीम कोर्ट में आय से अधिक संपत्ति का आरोप लगाया था। इस याचिका के बाद राजेश्वर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में एक आपराधिक अवमानना याचिका लगाई थी। हालांकि, इस मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) से कई साल पहले ही क्लीनचिट मिल चुकी थी। बावजूद इसके सुप्रीम कोर्ट ने सिंह के खिलाफ जांच करने के निर्देश दिए थे।

उधर, भाजपा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा है कि अगर ईडी से राजेश्वर सिंह की विदाई हो जाती है तो एयरसेल-मैक्सिस मामले समेत वह पी चिदंबरम के खिलाफ अपनी सभी याचिका वापस ले लेंगे। स्वामी ने कहा, “आज की स्थिति में अगर राजेश्वर सिंह को ईडी से हटा दिया जाता है तो मैं यह समझूंगा कि चिदंबरम को बचाने की कोशिश अब खत्म हो गई है।” उन्होंने कहा, “हमारी पार्टी में भी चिदंबरम के कई शुभचिंतक हैं जो उन्हें बचाना चाहते हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X