सुधांशु त्रिवेदी बोले- गली में निशाना साधकर मुलायम ने चलवाई थी गोली, बंगाल में अजान वाले को वजीफा

हाल ही में समाजवादी पार्टी के नेता और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 6 साल पहले वाराणसी में हुए लाठीचार्ज की घटना पर माफी मांगी है।

bjp, republic bharatभाजपा नेता सुधांशु त्रिवेदी। फोटो सोर्स – फेसबुक, @Dr Sudhanshu Trivedi

रिपब्लिक भारत चैनल पर एक शो में भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव और ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव ने राम भक्तों पर गोली चलवायी थी। गली में निशाना साधकर रामभक्तों को गोली मारी गयी थी। वहीं ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि बंगाल में अजान वालों को ये वजीफा दे रहे हैं।

एंकर अर्नब गोस्वामी ने अखिलेश यादव द्वारा 6 साल पहले वाराणसी में हुए लाठीचार्ज की घटना पर माफी मांगने को लेकर सुधांशु त्रिवेदी से कहा कि ये लोग क्षमा मांगने वाले नहीं है। अब जब मुस्लिम तुष्टिकरण का फॉर्मूला फैल हो गया है तो उन्हें सनातन धर्म की याद आ रही है। इस पर अपनी राय रखते हुए सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि पहले तो मैं ये बता दूं कि 1990 में मुलायम सिंह जो कहते हैं न कि विवादित ढ़ांचे को बचाने के लिए मैंने गोली चलवायी थी वो गलत है।

कारसेवा 30 अक्टूबर 1900 को थी और 2 नवंबर 1990 को गोली चलायी गयी थी। जिस दिन कोई कारसेवा नहीं थी। गली में खड़े होकर निशाना लगाकर गोली मारी गयी थी। कोठारी बंधुओं के सर पर गोली मारी गयी थी।

साथ ही उन्होंने कहा कि बंगाल में 56 हजार इमामों को ढ़ाई हजार का वजीफा और अजान लगाने वालों को हजार रुपया महीना दिया जाता है।अखिलेश यादव सिर्फ हज हाउस बनाने पर ध्यान दे रहे थे। उन्होंने कहा कि इमामों को वजीफा और साधु संतों पर अत्याचार ने ही इन लोगों को इस हालत में पहुंचाया है। विपक्षी प्रवक्ता ने कहा कि अगर मंदिर तोड़े जाएंगे, मस्जिद तोड़े जाएंगे तो उसकी रक्षा करना राज्य के मुख्यमंत्री का धर्म होता है।

बताते चलें कि हाल ही में समाजवादी पार्टी के नेता और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने  6 साल पहले वारणसी में हुए लाठीचार्ज की घटना पर माफी मांगी है। उन्होंने कहा था कि जो गलती हुई उसे स्वीकार करते हुए मैंने शंकराचार्य स्वामी स्वरुपानंद और उनके शिष्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद से क्षमा मांगी है।

Next Stories
1 गुजरात: सरकारी कोविड अस्पताल में कोरोना से बचने के लिए यज्ञ; उधर लाशों के अंतिम संस्कार तक का इंतज़ाम नहीं
2 छत्तीसगढ़: कोरोना मरीजों के लिए 8 बेड्स की ICU फैसिलिटी, एक्टिव केस 10 हजार पार, इस छोटे शहर में कहर बरपा रही संक्रमण की दूसरी लहर
3 गोवा में भाजपा को झटका, गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने NDA से किया किनारा
यह पढ़ा क्या?
X