ताज़ा खबर
 

वीडियो: देश के PM की तरफ आंख उठा देखेंगे तो लेने के देने पड़ेंगे…भड़क कर बोले पूर्व मेजर जीडी बख्शी

डिबेट शो में एंकर सुचरिता कुकरेती ने पाकिस्तान से जुड़ा सवाल पूछा था जहां अर्नब गोस्वामी केस मामले में मीडिया लगातार कवरेज कर रहा है।

डिबेट में बख्शी ने कहा- अर्नब पीएमओ से बात करते हैं। पीएम ने हर भारतीय नागरिक को इसका अधिकार दिया है। (वीडियो स्क्रीनशॉट)

रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी ने एक टीवी डिबेट शो में विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी पर आंख उठाने वालों को लेने के देने पड़ सकते हैं। रिपब्लिक के डिबेट शो ‘महाभारत’ में उन्होंने चैनल के एडिटर इन चीफ अर्बन गोस्वामी की पीएमओ से कथित बातचीत का भी बचाव किया। उन्होंने कहा कि अखबारों में छापा गया कि अर्नब पीएमओ से बात कर रहे हैं। वो बिल्कुल बात कर सकते हैं पीएम ने हर भारतीय नागरिक को इसका अधिकार दिया है।

दरअसल डिबेट शो में एंकर सुचरिता कुकरेती ने पाकिस्तान से जुड़ा सवाल पूछा था जहां अर्नब गोस्वामी केस मामले में मीडिया लगातार कवरेज कर रहा है। उन्होंने कहा कि सबूत गैंग पाकिस्तान की भाषा बोल रहा है। वाड्रा कांग्रेस आईएसआई की कठपुतली बनी है! इसका जवाब बख्शी दिया। उन्होंने कहा- महाराष्ट्र पुलिस पीएम का व्हाट्सएप टैप करने की कोशिश कर रही है। तमाशा किया जा रहा है। महाराष्ट्र की पुलिस क्या पाकिस्तान के साथ मिलना चाहती है। यहां पाकिस्तान के चाहने वाले बहुत हैं।

आठवें मिनट से देखें वीडियो-

बता दें कि अर्नब गोस्वामी और ‘बार्क’ के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी पार्थ दासगुप्ता के बीच सोशल मीडिया पर हुई बातचीत के बारे में महाराष्ट्र सरकार जानकारी एकत्र कर रही है। राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि इस मुद्दे पर मंगलवार यानी आज मंत्रिमंडल की बैठक में चर्चा की जाएगी। गौरतलब है कि गोस्वामी और दासगुप्ता के बीच हुई बातचीत लीक हो गई थी जिसमें बालाकोट और पुलवामा हमले जैसे संवेदनशील मुद्दों का उल्लेख किया गया है।

देशमुख ने कहा कि ऐसी संवेदनशील जानकारी गोस्वामी को कैसे मिली यह एक बड़ा प्रश्न है। उन्होंने कहा- अर्नब गोस्वामी और पार्थ दासगुप्ता के बीच हुई बातचीत के बारे में हम जानकारी एकत्र कर रहे हैं। उस चैट में बालाकोट और पुलवामा हमले जैसे संवेदनशील मुद्दों का उल्लेख किया गया है। अर्नब को यह सूचना कैसे मिली यह बड़ा प्रश्न है।

इधर गोस्वामी और पार्थ दासगुप्ता के बीच व्हाट्सएप पर हुई बातचीत के परिप्रेक्ष्य में न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन (एनबीए) ने भी प्रतिक्रिया दी। इसने कहा कि चिंताओं के समाधान के लिए टीवी रेटिंग्स एजेंसी द्वारा कार्रवाई किए जाने तक टेलीविजन समाचार चैनलों की रेटिंग स्थगित रहनी चाहिए। रजत शर्मा के नेतृत्व वाले एनबीए ने एक बयान में कहा कि यह देखना ‘निराशाजनक है कि बार्क के पूर्व सीईओ पार्थ दासगुप्ता और एआरजी आउटलियर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक अर्नब गोस्वामी के बीच व्हाट्सएप पर सैकड़ों संदेशों का आदान-प्रदान हुआ।’ (एजेंसी इनपुट सहित)

Next Stories
1 सरकारी डॉक्टर्स दे देते हैं गलत सर्टिफ़िकेट, इसलिए…नितिन गड़करी ने दी राजनाथ सिंह को सलाह
2 जानें-समझें, किसानों की कमाई दोगुनी: कितनी हकीकत कितना फसाना
3 अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाउ को हाईकोर्ट की लताड़- खुद ही पुलिस, वकील, जज बन गए और फैसला भी सुना दिया
ये पढ़ा क्या?
X