ताज़ा खबर
 

परमवीर सिंह पर धर्माचार्य ने Shivsena पैनलिस्ट को चेताया- 2 दिन में न किया निलंबित, तो सड़क पर आ जाएगा पूरा महाराष्ट्र

विश्व हिंदू सेवा संघ के महाराष्ट्र अध्यक्ष संदीप वैद्य ने शिवसेना पैनलिस्ट से परमबीर सिंह के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि अगर 2 दिन के भीतर उन्हें निलंबित नहीं किया तो पूरा महाराष्ट्र सड़क पर आ जाएगा।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: October 30, 2020 2:40 PM
republic Tv debate, sadhvi pragya, shivsena, congress, BJP, arnab goswami, jansattaप्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह पर गंभीर आरोप लगाए हैं। ‘रिपब्लिक टीवी’ से बात करते हुए प्रज्ञा ने कहा कि परमबीर सिंह अत्याचारी और निम्न स्तर के व्यक्ति है और वह गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त है। उन्होंने मुंबई पुलिस कमिश्नर पर उनके साथ जेल में मारपीट करने के आरोप भी लगाए।

इस मुद्दे पर ‘रिपब्लिक टीवी’ के शो ‘पूछता है भारत’ पर बहस हो रही थी। इस दौरान विश्व हिंदू सेवा संघ के महाराष्ट्र अध्यक्ष संदीप वैद्य ने शिवसेना पैनलिस्ट से परमबीर सिंह के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि अगर 2 दिन के भीतर उन्हें निलंबित नहीं किया तो पूरा महाराष्ट्र सड़क पर आ जाएगा। उन्होंने कहा कि, ‘साधु-संतों पर जो अत्याचार हो रहा है। परमबीर सिंह को इस्तीफा देना चाहिए और उनके ऊपर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए।’

इस दौरान पैनल में बैठे एक अन्य धर्माचार्य ने कहा कि यहाँ बैठे शिवसेना के लोगों को शर्म आनी चाहिए। आप लोगों की आत्मा मर गई है। जो व्यक्ति भगवा का साथ नहीं दे सकता, भगवा धारी एक साध्वी आरोप लगा रही है और आप उनके आरोप नहीं सुन सकते।

वहीं इस मामले में बीजेपी ने कांग्रेस पर हमला किया है। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए पात्रा ने कहा कि ‘धर्मनिरपेक्षता की आड़ में कांग्रेस पार्टी ने तुष्टिकरण की राजनीति को बढ़ावा दिया है। निसंदेह हिंदुओं पर अत्याचार हो रहे हैं, क्योंकि धर्मनिरपेक्षता की आड़ में कांग्रेस पार्टी ने तुष्टीकरण की राजनीति को बढ़ावा दिया है। कांग्रेस द्वारा हिंदू आतंकवाद और भगवा आतंकवाद जैसे शब्दों को सामने लाए। हिंदुओं को आतंकित करने के लिए इन शब्दों को कहीं न कहीं मुख्य धारा में लाने के प्रयास किए जा रहे हैं। हिंदुओं को बदनाम करने का काम किया गया।’

बता दें महाराष्ट्र के मालेगांव में 29 सितंबर 2008 को एक बम धमाका हुआ था। इस धमाके में 6 लोग मारे गए थे। उस समय परमबीर सिंह एंटी टेरर स्कवॉड (ATS) के डीआईजी थे और मालेगांव केस की जांच अधिकारी भी थे। प्रज्ञा ने आरोप लगाया है कि उन्हें परमबीर सिंह ने फर्जी तरीके से इस केस में फंसाया था।

उन्होंने कहा, ‘परमबीर ने मुझे बेल्ट से पीटा, उन्होंने मुझे गालियां देकर पीटा। परमबीर को राक्षस कहना भी कम है। इनका षड्यंत्र था कि हमें सालों साल जेल में रखा जाए। ऐसे अफसर राजनीतिक तौर पर चलते हैं। कांग्रेस परमबीर जैसे लोगों को पालती है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पूरे महाराष्ट्र में 5 वोट न मिलेंगे, चेता रहा हूं…चुल्लू भर पानी में डूब मरो- जब शिवसेना नेता पर गरजे Republic TV के अर्णब गोस्वामी, BJP नेता ने भी लताड़ा
2 COVID-19 के बीच जहरीली हो रही हवा! एक्सपर्ट बोले- विषैले सर्कस में रह रहे हम, सांस लेंगे तो मरेंगे, पानी पिएंगे तो मरेंगे
3 अमिश देवगन के शो में बोले संबित पात्रा, अभिनंदन के लिए चाहिए सबूत, F16 के पीछे राहुल गांधी को बांध देते?
यह पढ़ा क्या?
X