ताज़ा खबर
 

PAK से 24 घंटे में फौजी ले आए, पर क्या अर्णब को जेल से बाहर नहीं ला सकते NSA डोवाल साहब- Republic TV पर हाथ जोड़ गुजारिश करने लगे मेहमान

डिबेट के दौरान मौजूद पैनलिस्ट ने अपील की कि भाजपा के नेता और विधायक अर्नब की रिहाई के लिए राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलें।

Republic TV Editor, arnab goswamiरिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी। (पीटीआई)

अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी से कई लोग निराश हैं और सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोग अर्नब गोस्वामी का समर्थन कर रहे हैं। इस बीच रिपब्लिक टीवी पर डिबेट कार्यक्रम में मौजूद एक पैनलिस्ट ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल से अर्नब गोस्वामी को छुड़ाने की अपील कर डाली। उन्होंने कहा कि अगर डोवाल पाकिस्तान से हमारे फौजी को 24 घंटे में ला सकते हैं तो अर्नब को जेल से बाहर क्यों नहीं निकाल सकते।

दरअसल डिबेट के दौरान मौजूद पैनलिस्ट ने अपील की कि भाजपा के नेता और विधायक अर्नब की रिहाई के लिए राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलें। इसी बीच कार्यक्रम में बतौर पैनलिस्ट मौजूद फिरोज बख्त अहमद ने कहा कि ‘मैं राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह के साथ ही हमारे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल जी से अपील करना चाहता हूं कि जब आप 24 घंटे में हमारे फौजी, फाइटर जेट पायलट अभिनंदन को पाकिस्तान से वापस ला सकते हैं तो अगले 24 घंटे में अर्नब को जेल से बाहर नहीं निकाल सकते?’

डिबेट के दौरान बतौर पैनलिस्ट मौजूद रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी ने कहा कि अर्नब गोस्वामी एक व्यक्ति नहीं हैं बल्कि एक संस्थान हैं। वह एक बड़े चैनल के एडीटर चीफ हैं और उन्हें इस तरह से गिरफ्तार करना गलत है।

बता दें कि इंटीरियर डिजाइनर को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अर्नब गोस्वामी की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट आज अपना फैसला सुना सकता है। अर्नब गोस्वामी का कहना है कि उनके वकील से बात नहीं करने दी जा रही है और हिरासत में उन्हें टॉर्चर किया जा रहा है। अर्नब गोस्वामी ने अपनी जान को खतरा भी बताया है।

अर्नब गोस्वामी रायगढ़ जिले की तलोजा जेल शिफ्ट कर दिया गया है। दरअसल अर्नब गोस्वामी पर हिरासत के दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल का आरोप लगा था, जिसके बाद उन्हें तलोजा जेल में शिफ्ट किया गया। अर्नब गोस्वामी की पत्नी ने आरोप लगाया है कि उनके पति को फर्जी आरोपों में फंसाया गया है और उनकी जान को खतरा है। जेल में उनकी पिटाई की गई है। इंटीरियर डिजाइनर की आत्महत्या के मामले में अर्नब गोस्वामी के अलावा फिरोज शेख और नीतीश शारदा को भी गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि अर्नब और अन्य आरोपियों की कंपनी से बकाया नहीं मिलने के चलते इंटीरियर डिजाइनर को आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Kerala Lottery Today Results: Win-Win W-589 लॉटरी के रिजल्ट जारी, यहां करें चेक
2 J&K के युवा बेरोजगार, बंदूक उठाने के अलावा नहीं है और कोई विकल्प- बोलीं महबूबा मुफ्ती
3 बॉलीवुड में ड्रग्सः ऐक्टर-मॉडल अर्जुन रामपाल के मुंबई स्थित घर पर NCB की रेड
यह पढ़ा क्या?
X