ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान का नाम ले अर्नब ने तीन बार ठोकी अपनी छाती, जानिए क्या है पूरा मामला

डिबेट शो में अर्बन ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में धारा-370 हटने के बाद जो शांति आई है उससे पाकिस्तान डर गया है।

rupblic TV editor in chiefरिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी।

रिपब्लिक मीडिया ग्रुप के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी ने गुरुवार को टीवी डिबेट शो ‘पूछता है भारत’ में आतंक के मुद्दे पर पाकिस्तान को निशाने ले लिया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान क्या एक और सर्जिकल स्ट्राइक के बगैर नहीं मानेगा। डिबेट शो में उन्होंने तीन बार छाती ठोकते हुए कहा कि सारा भारत पूछ रहा है कि क्या पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में होने वाले स्थानीय चुनाव से घबरा गया है।

बता दें कि जम्मू क्षेत्र में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए चार आतंकवादी इस महीने के अंत में होने वाले जिला विकास परिषद (डीडीसी) के चुनावों को प्रभावित करने के लिए कश्मीर घाटी की ओर जा रहे थे। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी देने के साथ ही बताया कि पाकिस्तान हमारे राजनीतिक कामों में परेशानी पैदा करने की कोशिश कर रहा है। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगरोटा के बान इलाके में टोल प्लाजा के पास आज सुबह हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के चार संदिग्ध आतंकी मारे गए।

डिबेट शो में अर्बन ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में धारा-370 हटने के बाद जो शांति आई है उससे पाकिस्तान डर गया है। उन्होंने कहा कि क्या पीओके से पाकिस्तान को हटाना आखिरी इलाज बचा है। उल्लेखनीय है कि कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने कहा, ‘पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तान ने इस तरफ आतंकियों की घुसपैठ कराने और आगामी चुनावों को बाधित करने की कोशिशें बढ़ा दी हैं। इसके लिए जम्मू पुलिस और सुरक्षाबलों ने चार पाकिस्तानियों (आतंकियों) को धराशायी कर अच्छा काम किया है। उनका उद्देश्य चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने के लिए कश्मीर आना था।’

आईजीपी ने कहा कि हमें आशंका थी कि आतंकी चुनावों को प्रभावित करने के प्रयास में हैं, लेकिन सुरक्षा बल हालात से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार थे। उन्होंने कहा, ‘चाहे कोई चुनाव हो या 15 अगस्त या 26 जनवरी या यहां तक कि कोई महत्वपूर्ण व्यक्ति आ रहा हो, आतंकियों के हमले की आशंकाएं हमेशा बनी रहती हैं, लेकिन हम पूरी तरह से तैयार हैं… हम उम्मीदवारों को सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं और उन्होंने कल से चुनाव प्रचार के लिए मैदान में जाना शुरू कर दिया है और डरने की कोई बात नहीं है।’

कुमार ने कहा कि हालांकि 28 नवंबर से शुरू होने वाले चुनाव लड़ने वाले प्रत्येक उम्मीदवार को सुरक्षा प्रदान करना मुश्किल था। (एजेंसी इनपुट)

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बंगाल और केरल में राजनीतिक हत्याओं को नरभक्षिता बता बोले पैनलिस्ट- बेटों को मारकर मां को खून पिलाते हैं
2 ममता की नीतियों का विरोध कीजिए, उनके खिलाफ साजिश मत कीजिए, डिबेट में भाजपा पर बरसे कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम
3 कृषि बिलों के खिलाफ पंजाब में किसानों का प्रदर्शन तेज, रेलवे ने बताया- 41 ट्रेनें रद्द करनी पड़ी
ये पढ़ा क्या ?
X