ताज़ा खबर
 

अर्नब ने मोदी को हिंदू शेर बताने पर जताई आपत्ति, क्यों मुस्लिमों को डरा रही कांग्रेस, मिला जवाब

रिपब्लिक पर डिबेट के दौरान एंकर अर्नब गोस्वामी ने कहा कि ये सबको पता है कि कांग्रेस पार्टी की रणनीति क्या है? मुस्लिम समुदाय को डराओ, डराओ, डराओ।

रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी। (द इंडियन एक्सप्रेस फाइल फोटो)

रिपब्लिक पर डिबेट के दौरान एंकर अर्नब गोस्वामी ने कहा कि ये सबको पता है कि कांग्रेस पार्टी की रणनीति क्या है? मुस्लिम समुदाय को डराओ, डराओ, डराओ। पर्दे के पीछे कांग्रेस पार्टी मुस्लिम नेताओं से क्या कहती है? अगर हिंदू हो तो वोट हिंदू शेर मोदी को दो। हिंदू शेर यानी कि पर्दे के पीछे आप मुस्लिम नेताओं को डराते हैं। मुसलमान हो तो कांग्रेस को दो। कांग्रेस मोदी को हिंदू शेर क्यों कहती है?

बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि अगर असम में उनकी पार्टी की सरकार बनती है तो वे राज्य को दिल्ली और नागपुर के नियंत्रण से मुक्त कराएंगे। मालूम हो कि ‘नागपुर’ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का मुख्यालय है। दरअसल कांग्रेस सर्बानंद सोनोवाल सरकार पर आरोप लगाती रही है कि वह दिल्ली में भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के इशारे पर काम करती है। राहुल ने कहा, “आप कांग्रेस की पांच गारंटी के बारे में जानते हैं। मैं छठी गारंटी देता हूं कि महाजोत सरकार असम को नागपुर और दिल्ली के नियंत्रित से मुक्ति देगी। ”

बता दें कि कांग्रेस 10 दलों के महाजोत का नेतृत्व कर रही है। जिसमें बदरुद्दीन अजमल की AIUDF भी शामिल है। राहुल गांधी ने नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के खिलाफ अपनी पार्टी का रुख दोहराया।

राहुल गांधी ने कहा, “असम के लोग सीएए नहीं चाहते हैं, जो असम पर हमला है। यह राज्य को विभाजित करेगा, नफरत को और फैलाएगा। असम में कोई भी सीएए को लागू नहीं कर सकता है और हम चुनाव के बाद इसको सुनिश्चित करेंगे। ”

मालूम हो कि सीएए को निरस्त करना कांग्रेस की पांच गारंटी में से एक है। गुवाहाटी में एक अन्य रैली में, उन्होंने नफरत की राजनीति करने के लिए भाजपा को लताड़ा। राहुल गांधी ने कहा, “भाजपा का लक्ष्य चाय बागानों, हवाई अड्डों, तेल क्षेत्रों और अन्य सभी चीजों को छीनना और अपने कुछ कॉर्पोरेट मित्रों को सौंपना है।”

कांग्रेस नेता ने राज्य में बेरोजगारी की स्थिति पर जोर दिया। बता दें कि कांग्रेस ने युवाओं के लिए पांच साल में 5 लाख सरकारी नौकरियों,प्रति घर 200 यूनिट तक बिजली मुफ्त देने,हर गृहिणी के लिए 2,000 रुपए का मासिक भत्ता और चाय बागान में काम करने वालों को 365 रुपए रोज की दिहाड़ी का वादा किया है।

Next Stories
1 महंगे फ्यूल ने कम की आमदनी तो कैब चालक ने लगा ली खुद को आग, बेंगलुरु मे कैब सर्विस ठप
2 कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट की कमेटी ने बंद लिफाफे में जमा कराई रिपोर्ट, 85 किसान संगठनों से बात का दावा
3 बंगाल चुनावः केंद्रीय मंत्री बोले- तीसरे चरण का चुनाव आते-आते सड़कों पर चंडी जाप करने लगेंगी ममता बनर्जी
यह पढ़ा क्या?
X