ताज़ा खबर
 

गणतंत्र दिवस: 7 धमाकों से दहला असम-मणिपुर, केजरीवाल बोले- भारतीय लोकतंत्र की ‘हिटलरवादी ताकतों’ से करनी होगी रक्षा

बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में तिरंगा फहराने के बाद अपने संबोधन में कहा कि कानून का राज स्थापित रखना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।

Author नई दिल्ली | Updated: January 26, 2017 11:07 PM
Republic Day celebrations india, Assam blast news, manipur blast news, Patna Republic Day, Mumbai Republic Day, Goa Republic Dayउल्फा (स्वतंत्र) ने असम के चराईडो, शिबसागर, डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया जिलों में बम धमाके किए। (पीटीआई ग्राफिक्स)

गणतंत्र दिवस के मौके पर असम और मणिपुर गुरुवार (26 जनवरी) को सात बम धमाकों से दहल गए। वहीं देश के अलग-अलग हिस्सों में गणतंत्र दिवस पर राज्यों ने अपनी सांस्कृतिक विविधता और सुरक्षा बलों के सामर्थ्य का प्रदर्शन किया। पुलिस ने बताया कि उपरी असम में बातचीत का विरोध कर रहे उल्फा (स्वतंत्र) ने चराईडो, शिबसागर, डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया जिलों में बम धमाके किए। डिब्रूगढ़ शहर में चौकीडिंगी परेड ग्राउंड से महज 500 मीटर दूर धमाका हुआ। जिस वक्त धमाका हुआ उस वक्त परेड ग्राउंड में ध्वजारोहण समारोह चल रहा था। पुलिस ने कहा कि कड़ी सुरक्षा की वजह से आतंकियों ने चाय बगान के पास एक नाले में बम फेंक दिया, जिसमें धमाका हो गया। पुलिस ने कहा कि मणिपुर में इंफाल पूर्व और पश्चिम जिलों में संदिग्ध उग्रवादियों ने दो धमाके किए। इंफाल पूर्व जिले में मंत्रीपुखरी में 69 सीआरपीएफ बटालियन के बैरेक के पास एक धमाका हुआ। धमाके में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। वहीं आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिये जाने की मांग को लेकर विशाखापट्टनम में प्रदर्शन कर रहे 100 से ज्यादा लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। हिरासत में लिए गए लोगों में तेलगु अभिनेता संपूर्णेश बाबू भी शामिल हैं। वहीं अलग अलग राज्यों की राजधानियों में राज्यपालों ने परंपरागत परेड की सलामी ली। राज्यों में मुख्यमंत्रियों ने तिरंगा फहराया और परेड की सलामी ली। इस दौरान आकर्षक वर्दी में सुरक्षा बलों ने कदमताल कर सभी का दिल जीत लिया। वहीं झांकियों ने भी लोगों को खूब आकर्षित किया। धमाकों के बाद असम में मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि सरकार उग्रवाद के खिलाफ लड़ाई जारी रखेगी और राज्य के लोग इसके खिलाफ एकजुट हैं।

गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र की ‘हिटलरवादी ताकतों’ से रक्षा करनी होगी। वहीं पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और राष्ट्रीय राजधानी में गणतंत्र दिवस पर रिमझिम फुहारों ने लोगों को भिगोया। पंजाब और हरियाणा के अधिकतर इलाकों में सुबह से ही बारिश हो रही थी। मोहाली में पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने सूबे को अधिक प्रगतिशील और समृद्ध बनाने की कोशिश के तहत राज्यवासियों से आज (गुरुवार) शांति, सद्भाव और भाईचारा बनाए रखने की अपील की। यहां गवर्नमेंट कॉलेज में झण्डा फहराने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि संविधान देश के संप्रभु, लोकतांत्रिक और समाजवादी पहलुओं का प्रतीक है। वहीं कश्मीर में पिछले एक दशक के दौरान यह दूसरा मौका था जब मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं को बाधित नहीं किया गया था। कश्मीर के मुख्य समारोह स्थल बख्शी स्टेडियम और अन्य जिला मुख्यालयों पर आयोजनों के दौरान मोबाइल सेवाएं बाधित नहीं की गई थीं। कोलकाता में भी बेहद भव्य तरीके से गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन किया गया। यहां मुख्य समारोह रेड रोड पर आयोजित किया गया और इसका खास आकर्षण सेना की तोप और रॉकेट लॉन्चर रहे।

झारखंड की राजधानी रांची में राज्यपाल द्रोपदी मुर्मु ने राष्ट्रध्वज फहराया। गणतंत्र दिवस के मौके पर उन्होंने लोगों से एकता और सद्भाव के साथ रहने की अपील की। तमिलनाडु में इस बार परंपरा से इतर मुख्यमंत्री ओ पनीरसेलवम ने गणतंत्र दिवस समारोह की अध्यक्षता की और राष्ट्रध्वज फहराया क्योंकि राज्य में कोई पूर्णकालिक राज्यपाल नहीं हैं। मिजोरम के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल निर्भय शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार का मुख्य कार्यक्रम न्यू लैंड यूज पॉलिसी लागू किए जाने के अंतिम चरण में है। अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल वी शनमुगानाथन ने राज्य में शिशु मृत्युदर को नियंत्रित करने के लिए विशेष ‘दुलारी कन्या’ योजना शुरू की। इस योजना के तहत सरकार सरकारी अस्पताल में जन्म लेने वाली हर बच्ची के नाम से बैंक अकाउंट में 20 हजार रुपये जमा कराएगी। केरल के राज्यपाल पी सदाशिवम ने कहा कि राज्य पूर्ण विद्युतीकरण की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। आंध्रप्रदेश में राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन ने राज्य के लोगों विशेषकर युवाओं का आह्वान किया कि वो राज्य को विकास के पथ पर आगे बढ़ाने के लिए योगदान दें। कर्नाटक में राज्यपाल वजुभाई वाला ने गणतंत्र दिवस पर बताया कि प्रदेश सरकार ने स्मार्ट सिटी मिशन के लिए साल 2016-17 के दौरान 776 करोड़ रूपये जारी किए है। राज्य के छह शहरों में 1,188 करोड़ की लागत से स्मार्ट सिटी परियोजना लागू की जानी है।

ओडिशा में पूरे उत्साह और भव्यता के साथ गणतंत्र दिवस का जश्न मनाया गया। माओवादियों ने राज्य के कुछ इलाकों में गणतंत्र दिवस का बहिष्कार किया था जिसे देखते हुए सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे। शिमला में भी एतिहासिक रिज ग्राउडं में भव्य परेड के आयोजन के साथ आधिकारिक तौर पर गणतंत्र दिवस समारोह मनाया गया। राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने ध्वजारोहण किया। ठंड और भारी बारिश के बीच भी बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। उत्तराखंड में राज्यपाल के के पॉल ने देहरादून में ध्वजारोहण के बाद गणतंत्र दिवस परेड की सलामी ली। बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में तिरंगा फहराने के बाद अपने संबोधन में कहा कि कानून का राज स्थापित रखना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। गुजरात में राज्यपाल ओ पी कोहली ने आणंद जिले के वल्लभ विद्यानगर में तिरंगा फहराया। इस मौके पर गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी मौजूद थे। गुजरात सरकार ने इस बार राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह वल्लभविद्यानगर में आयोजित किया था। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पुलिस लाइन में राज्यपाल बलरामजी दास टंडन ने तिरंगा फहराया। महाराष्ट्र में राज्यपाल सी विद्यासागर राव ने मुम्बई के शिवाजी पार्क में तिरंगा फहराया। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे राज्य में स्थानीय निकाय चुनाव में शांतिपूर्ण एवं व्यवस्थित ढंग से अपने मताधिकार का इस्तेमाल करें।

त्रिपुरा की राजधानी अगरतला स्थित असम राइफल्स मैदान में राज्यपाल तथागत राय ने तिरंगा फहराया। उन्होंने सभी वर्ग के लोगों से एक समृद्ध राज्य एवं समृद्ध देश निर्माण के लिए आगे आने का आह्वान किया। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य की राजधानी भोपाल में आयोजित भव्य कार्यक्रम में राज्यपाल ओम प्रकाश कोहली की तरफ से तिरंगा फहराया। कोहली गुजरात के भी राज्यपाल हैं। पुडुचेरी की उप राज्यपाल किरण बेदी ने पुडुचेरी में तिरंगा फहराया। उन्होंने कहा कि केंद्र लोगों को लेनदेन के लिए डिजिटल तरीकों का इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। इससे पारदर्शिता आने के साथ ही सरकार का राजस्व भी बढ़ेगा। एनएससीएन (के) के बहिष्कार आह्वान के बावजूद पूरे नगालैंड में गणतंत्र दिवस शांतिपूर्ण तरीके से मनाया गया। कोहिमा के राज्य सिविल सचिवालय में आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल पी बी आचार्य ने एनएससीएन के खापलांग गुट का आह्वान किया कि वह लोगों की इच्छाओं का सम्मान करते हुए केंद्र के साथ संघर्ष विराम समझौते में लौट आये।

गणतंत्र दिवस के मौके पर मेघालय सरकार ने आज (गुरुवार, 26 जनवरी) राज्य के आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित की जिन्होंने ब्रिटिश शासन से लड़ते हुए बलिदान दिया। मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने कहा कि हम स्वतंत्रता सेनानियों यू तिरोट सिंह, यू कियांग नांगबाह, और पी टी एन संगमा एवं अन्य को याद करते हैं। हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी ने कुरुक्षेत्र में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में तिरंगा फहराया, जबकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पंचकुला में तिरंगा फहराया। पंजाब के राज्यपाल एवं चंडीगढ़ के प्रशासक वी पी सिंह बदनोर ने भी पटियाला में तिरंगा झंडा फहराया। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने मोहाली में जबकि उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने जालंधर में तिरंगा फहराया।

Next Stories
1 गणतंत्र दिवस 2017 : इस साल राजपथ पर पहली बार हुईं ये पांच बातें
2 मोदी का सपना होगा साकार, 6 महीने चौबीसो घंटे 8500 लोगों से काम करा अडाणी ने बनाया सबसे बड़ा सोलर पावर प्‍लांट
3 नरेंद्र मोदी सरकार ने 95 साल पुराना नियम बदलकर विदेश सचिव जयशंकर को दिया सेवा विस्तार
ये पढ़ा क्या?
X