कोविड संकट पर पप्पू यादव ने कसा मोदी पर तंज तो बीच में कूदे अर्णब, बोले- आप लक्ष्मण रेखा पार कर रहे, मिला करारा जवाब

जन अधिकारी पार्टी के नेता ने कहा, "चुनाव आयोग पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। क्यों बंगाल में आठ चरणों में चुनाव करा रहा है। सब जगह एक चरण में हो जाता है तो बंगाल में आठ चरण में कराने की क्या जरूरत है?"

TV Debate, Covid-19, BIharजन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव। (फाइल फोटो)

कोरोना संकट काे लेकर देशभर में जारी भयावह पूर्ण स्थिति पर कुछ सार्थक काम होने की उम्मीद लगाए आम लोगों को अब राजनेताओं से निराशा हाथ लग रही है। लोगों में नेताओं की राजनीति पर गुस्सा आ रहा है। देश में लगातार लोग मर रहे हैं। सरकार कह रही है कि ऑक्सीजन सप्लाई, बेड, टीकों की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है, लेकिन राजनीतिक दल एक दूसरे की टांग खिंचाई में व्यस्त हैं।

रिपब्लिक भारत न्यूज चैनल पर एंकर अर्नब गोस्वामी ने बीजेपी नेता अपराजिता सारंगी से पूछा कि आज आंदोलनजीवी लोग एकजुटता दिखाकर सरकार के साथ मिलकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई में आगे क्यों नहीं आते हैं। इस पर उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार लगातार सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों बात करके उनके साथ मिलकर कोविड के खिलाफ सभी तरह की बाधाओं को दूर करने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन राज्यों की गैरभाजपाई सरकारें केंद्र के साथ मिलकर अपनी जिम्मेदारी को समझना नहीं चाहती हैं। कहा कि जब सीएम के साथ पीएम ने बैठक की तो बंगाल की सीएम ममता बनर्जी नहीं शामिल हुईं। वे राजनीति करने लगीं।

इस पर जन अधिकारी पार्टी के नेता पप्पू यादव ने कहा कि मैं बिहार में हूं और आप मेरा दर्द समझिए। पिछले सवा साल से महामारी फैली हुुई है। पिछले साल सरकार ने बीस हजार करोड़ का पैकेज दिया, वह कहां गया किसी को पता नहीं है। आज अस्पतालों में बेड नहीं है, दवाएं नहीं हैं, वैक्सीन नहीं है। मांगने पर मिलता नहीं है। चारों तरफ हाहाकार मचा है, तब हम केंद्र से उम्मीद करते हैं कि वह आगे बढ़कर राजनीति छोड़कर समस्या का समाधान निकाले तो वह इसको अनसुना कर देते है।

पप्पू यादव ने कहा, “चुनाव आयोग पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। क्यों बंगाल में आठ चरणों में चुनाव करा रहा है। सब जगह एक चरण में हो जाता है तो बंगाल में आठ चरण में कराने की क्या जरूरत है?”

इस पर एंकर अर्नब गोस्वामी ने उन्हें टोका और पूछा, “देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए?” उन्होंने कहा कि पप्पू जी आप अपने शब्दों पर ध्यान दें। अब आप लक्ष्मण रेखा पार कर रहे हैं। यह गलत बात है।

Next Stories
1 मास्किंग-मास्किंग कहने से कुछ नहीं होगा, बोले फोर्टिस चेयरमैन- नया वेरिएंट खतरनाक, आज जरूरत है डबल मास्क लगाने की
2 बेंगलुरू में एक दिन में जलीं 105 लाशें, मंत्री ने सारे डीसी को लिखा- श्मशान के लिए कराइए जमीन का इंतजाम
3 सरकार पर एंकर का तंज- पहले रायते को फैलने दिया, पानी नाक से ऊपर गया तो समेटने चले पर, समेट नहीं पा रहे
X