ताज़ा खबर
 

आप भोले-भाले किसानों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे हो- टिकैत से जब बोले खट्टर सरकार के सलाहकार, देखें- फिर क्या हुआ?

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को कहा कि राज्य के कुछ गांव कोरोना वायरस का केंद्र बन गए हैं।

किसान नेता राकेश टिकैत। (पीटीआई)।

रिपब्लिक भारत पर डिबेट के दौरान मनोहर लाल खट्टर सरकार के सलाहकार विनोद मेहता किसान नेता राकेश टिकैत से कहने लगे कि आप भ्रम फैलाना बंद कर दीजिए। पंजाब के किसान सिंघू बॉर्डर पर गए थे उनकी मौत हो गई। हरियाणा में जहां जहां आंदोलन ज्यादा है वहां के आस-पास के गांवों से …. टिकैत बीच में बोलने लगे कि आप बात कराओ हमारी सरकार से। सलाहकार बोलने लगे कि बात तो तब होगी जब आप बात करने को राजी होगे।

टिकैत कहने लगे कि कागजी बात मत करो। इस पर जवाब देते हुए सलाहकार कहने लगे कि दुनिया का कोई भी आंदोलन किसी के जीवन से बढ़कर नहीं हो सकता है। आप किसानों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे हो। टिकैत कहने लगे कि क्या ये बीमारी किसान आंदोलन के चलते आई है? आप लोग शर्म कर लो थोड़ी। समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को कहा कि राज्य के कुछ गांव कोरोना वायरस का केंद्र बन गए हैं। सीएम ने कहा, “एक महीने पहले, मैंने किसान नेताओं से कोविड -19 प्रसार के बीच अपने विरोध को स्थगित करने की अपील की थी। ​​मैंने उनसे कहा कि स्थिति नियंत्रण में होने के बाद वे फिर से शुरू कर सकते हैं। अब यह सामने आया है कि इन धरने ने कुछ गांवों को कोविड के हॉटस्पॉट बना दिया है।”

मुख्यमंत्री ने किसानों से अपने आंदोलन को एक बार फिर स्थगित करने का आग्रह करते हुए, कहा, “कोविड -19 महामारी के मद्देनजर, मैं एक बार फिर किसान नेताओं से अपने विरोध प्रदर्शन को स्थगित करने की अपील करता हूं। इस संकट की घड़ी में लोगों की जान बचाना हम सबका एक ही लक्ष्य होना चाहिए। मानव जीवन से बढ़कर कुछ भी नहीं है।”

मालूम हो कि हरियाणा में गुरुवार को कोविड के 12,286 नए मामले दर्ज किए गए, जबकि राज्य में 24 घंटे में 16,041 लोग ठीक हुए हैं। एक दिन में महामारी से 163 लोगों की मौत हो गई, जिससे राज्य में कुल मृत्यु संख्या 6,238 हो गई।

बढ़ते मामलों को देखते हुए, राज्य में 17 मई तक लॉकडाउन लगा दिया गया है। सीएम ने कहा कि राज्य के ग्रामीण इलाकों में हाल ही में कई कोविड -19 हॉटस्पॉट सामने आए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी घर-घर जाकर चेक-अप कर रहे हैं।

Next Stories
1 साल के अंत तक 216 करोड़ वैक्सीन डोज़ उपलब्ध होंगे, इस दावे के सामने कई चुनौतियां
2 कोरोनाः रूस की Sputnik V का 948 रुपए है दाम, Dr Reddy’s Laboratories ने दिए संकेत- कीमत और भी हो सकती है कम; जानें- कैसे?
3 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स केसः ईद पर नवनीत कालरा की जमानत याचिका पर सुनवाई, DP की ओर से बोला ASC- क्यों दी जा रही इन्हें प्राथमिकता? आज तो छुट्टी है
यह पढ़ा क्या?
X