scorecardresearch

भाजपा सबसे अमीर पार्टी! दूसरे नंबर पर बसपा, जानें कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के पास कितना फंड

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने यह रिपोर्ट साल 2019-20 में क्षेत्रीय और राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियों की संपत्ति और देनदारियों के विश्लेषण के आधार पर तैयार की है। इस रिपोर्ट में करीब 7 राष्ट्रीय पार्टी और 44 क्षेत्रीय पार्टियों को शामिल किया गया है।

एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार भाजपा के पास सबसे अधिक संपत्ति है। (फोटो: पीटीआई)

लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव व्यवस्था, राजनीतिक पार्टियों और नेताओं पर नजर रखने वाली संस्था एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार भाजपा सबसे अमीर पार्टी है और दूसरे नंबर पर मायावती की बहुजन समाज पार्टी है। रिपोर्ट के अनुसार भाजपा के पास 4847.78 करोड़ रुपए की संपत्ति है जबकि बसपा के पास 698.33 करोड़ की संपत्ति है। 

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने यह रिपोर्ट साल 2019-20 में क्षेत्रीय और राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियों की संपत्ति और देनदारियों के विश्लेषण के आधार पर तैयार की है। इस रिपोर्ट में करीब 7 राष्ट्रीय पार्टी और 44 क्षेत्रीय पार्टियों को शामिल किया गया है। इस रिपोर्ट के अनुसार वित्तीय वर्ष 2019-20 में सात राष्ट्रीय दलों ने 6,988.57 करोड़ रुपए की संपत्ति और 44 क्षेत्रीय दलों ने 2,129.38 करोड़ रुपए की संपत्ति घोषित की। इनमें सबसे अधिक संपत्ति भाजपा ने करीब 4847.78 करोड़ घोषित की। इसके बाद बसपा ने 698.33 करोड़ और कांग्रेस ने 588.16 करोड़ घोषित की।

वहीं सभी 44 क्षेत्रीय दलों द्वारा घोषित संपत्ति में से करीब 95 प्रतिशत संपत्ति सिर्फ 10 शीर्ष क्षेत्रीय दलों के पास है। शीर्ष दस क्षेत्रीय दलों के पास कुल 2,129.38 करोड़ में से 2028.715 करोड़ की संपत्ति है। क्षेत्रीय दलों में सबसे अधिक समाजवादी पार्टी के पास 563.47 करोड़ और इसके बाद टीआरएस के पास 301.47 करोड़ रुपए की घोषित संपत्ति है। वहीं एआईडीएमके के पास 267.61 करोड़ रुपये की घोषित संपत्ति है। क्षेत्रीय दलों द्वारा घोषित कुल संपत्ति में फिक्स डिपोजिट का हिस्सा सबसे ज्यादा है। वित्तीय वर्ष 2019-20 के अनुसार क्षेत्रीय दलों के पास फिक्स डिपोजिट करीब 1,639.51 करोड़ रुपए था।

रिपोर्ट के अनुसार क्षेत्रीय दलों में सपा ने 434.219 करोड़ रुपए, टीआरएस ने 256.01 करोड़, एआईडीएमके ने 246.90 करोड़, डीएमके ने 162.425 करोड़ रुपए, शिवसेना ने 148.46 करोड़, बीजेडी ने 118.425 करोड़ रुपए फिक्स डिपोजिट में घोषित किए। वहीं क्षेत्रीय दलों ने 2019-20 में करीब 60 करोड़ देनदारी के रूप में भी घोषित की। 

जबकि राष्ट्रीय पार्टियों में भाजपा ने 3,253.00 करोड़ रुपए और बसपा ने 618.86 करोड़ रुपए फिक्स डिपोजिट के रूप में घोषित किए। वहीं कांग्रेस ने 240.90 करोड़ फिक्स डिपोजिट में घोषित किए। राष्ट्रीय दलों ने वित्त वर्ष 2019-20 में 74.27 करोड़ रुपये की कुल देनदारियों की घोषणा की।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.