ताज़ा खबर
 

रिपोर्ट: पांच साल में 22000 करोड़पतियों ने छोड़ दिया भारत, दूसरे देशों को बना लिया ठिकाना

रिपोर्ट के अनुसार, साल 2018 में जहां 5000 करोड़पति लोगों ने भारत छोड़ दिया। वहीं साल 2017 में यह आंकड़ा 7000 था। साल 2016 और 2015 में आंकड़ा क्रमशः 6000 और 4000 रहा।

migraion of millionaires from indiaबीते साल 5000 करोड़पतियों ने भारत छोड़कर किसी अन्य देश में शरण ले ली।

भारत दुनिया की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में शुमार है। इसके अलावा भारत में बिजनेस करना भी पहले के मुकाबले आसान हुआ है। जिसके चलते ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की रैंकिंग में भी भारत ने बड़ी छलांग लगायी है। लेकिन एक हालिया रिपोर्ट में एक चिंताजनक बात सामने आयी है। दरअसल इस रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल देश के 5000 उच्च संपत्ति वाले व्यक्तियों (हाई नेट वर्थ इंडिविजुअल्स (HNWI)) ने देश छोड़ दिया और किसी अन्य देश को अपना ठिकाना बना लिया है। वहीं पिछले 5 सालों की बात करें तो पता चला है कि 22,000 करोड़पति इस दौरान भारत छोड़कर अन्य देशों में बस गए हैं। इकोनॉमिक टाइम्स की एक खबर के अनुसार, बीते साल अमीरों के देश छोड़ने के मामले में भारत तीसरे स्थान पर रहा।

“अफ्रेशिया बैंक एंड रिसर्च फर्म न्यू वर्ल्ड वेल्थ” ने “ग्लोबल वेल्थ माइग्रेशन रिव्यू, 2019” नाम से यह रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के अनुसार, साल 2018 में जहां 5000 करोड़पति लोगों ने भारत छोड़ दिया। वहीं साल 2017 में यह आंकड़ा 7000 था। साल 2016 और 2015 में आंकड़ा क्रमशः 6000 और 4000 रहा। ब्रिटेन करोड़पति लोगों का पसंदीदा देश हुआ करता था, लेकिन बीते साल ब्रिटेन से भी बड़ी संख्या में करोड़पति लोगों का पलायन हुआ। हालांकि यह भारत के मुकाबले कम रहा। दरअसल ब्रिटेन में ब्रेग्जिट के कारण इन दिनों उथल-पुथल का दौर चल रहा है, जिसके चलते कई बिजनेसमैन ब्रिटेन छोड़ चुके हैं।

भारत में पिछले साल जितने करोड़पति लोगों ने देश छोड़ा, वह देश के कुल करोड़पतियों की कुल संख्या का दो फीसदी है। पैसे वाले लोगों के देश छोड़ने के मामले में पिछले साल चीन पहले नंबर पर रहा। दरअसल अमेरिका से जारी ट्रेड वार के चलते चीन की अर्थव्यवस्था में सुस्ती का दौर चल रहा है। इस कारण भी वहां के पैसे वाले लोग दूसरे देशों में अपना ठिकाना बना रहे हैं। चीन के बाद रुस के करोड़पतियों ने सबसे ज्यादा संख्या में देश छोड़ा है। इसके बाद भारत का नंबर आता है। वहीं दुनियाभर से करोड़पति जिन देशों का रुख कर रहे हैं, उनमें अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया पसंदीदा देशों में शुमार हैं। अच्छी बात ये है कि तेज आर्थिक विकास के चलते अगले 10 सालों तक भारत की आर्थिक वृद्धि अच्छी रफ्तार से बढ़ेगी, जिससे बड़ी संख्या में नए लोग करोड़पति बनेंगे।

Next Stories
1 Kerala Karunya Lottery KR 396 Today Result: कई लोगों की चमकी है किस्मत, देखें लॉटरी नंबर
2 ’75 मीटर गहराई तक बिना ऑक्सीजन गोता लगा सकते हैं राहुल गांधी, गीता-उपनिषदों-इस्लाम का किया है अध्ययन’
3 Lok Sabha Election 2019: साध्वी प्रज्ञा से पहले साक्षी महाराज बता चुके हैं गोडसे को देशभक्त, बीजेपी ने कुछ नहीं किया
यह पढ़ा क्या?
X