अब परिवार के साथ यूके में रहेंगे मुकेश अंबानी? रिलायंस ने बताया मनगढ़ंत, सोशल मीडिया पर लोगों ने दिए ऐसे रिएक्शन

मुकेश अंबानी के यूके में रहने की खबर सामने आने पर एक यूजर ने ट्वीट करते हुए लिखा कि पहले उन राजनीतिक दलों को फंड करो जिनकी नीतियां आपको समृद्ध करते हुए देश को और अधिक अंधेरे में धकेल दे और फिर जब चारों ओर अंधेरा शुरू हो जाए तो आप उसको छोड़ दें।

Mukesh Ambani, Distribution of wealth, Ambani family, Reliance, ambani group
मुकेश अंबानी और उनके परिवार के भविष्य में लंदन में रहने की खबर सामने आने पर सोशल मीडिया पर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

पिछले दिनों एशिया के सबसे अमीर शख्स और रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन मुकेश अंबानी के ब्रिटेन में रहने की खबरें सामने आईं। एक रिपोर्ट में कहा गया कि मुकेश अंबानी अपने परिवार के साथ ब्रिटेन में रह सकते हैं। हालांकि रिलायंस की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि मुकेश अंबानी का लंदन या विश्व के किसी दूसरे हिस्से में शिफ्ट होने का इरादा नहीं है। बयान के अनुसार अंबानी परिवार के लंदन में शिफ्ट होने की बात मनगढ़ंत है।

अंबानी परिवार के ब्रिटेन में रहने की खबर सामने आने के बाद ही सोशल मीडिया पर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया और तरह तरह के रिएक्शन भी सामने लगे।

दरअसल अंग्रेजी अख़बार मिड डे ने सूत्रों के हवाले से खबर छापा कि मुकेश अंबानी और उनका परिवार आने वाले समय में लंदन और मुंबई दोनों जगहों पर रह सकता है। अंबानी परिवार ब्रिटेन के बकिंघमशायर स्थित स्टोक पार्क के पास अपना आलीशान घर भी बना सकता है। दरअसल इसी साल मुकेश अंबानी के द्वारा करीब 592 करोड़ में स्टोक पार्क खरीदने की खबर भी सामने आई थी।

इस खबर के बाद रिलायंस की ओर से एक बयान जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है- “हाल ही में एक अखबार की रिपोर्ट ने सोशल मीडिया पर अंबानी परिवार के लंदन के स्टोक पार्क में आंशिक रूप से रहने की योजना के बारे में अनुचित और निराधार अटकलों को जन्म दिया है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड यह स्पष्ट करना चाहेगी कि अध्यक्ष और उनके परिवार की लंदन या दुनिया में कहीं और स्थानांतरित होने या रहने की कोई योजना नहीं है”।

आगे इसमें कहा गया है आरआईएल समूह की कंपनी, आरआईआईएचएल, जिसने हाल ही में स्टोक पार्क एस्टेट का अधिग्रहण किया है, यह स्पष्ट करना चाहती है कि हेरिटेज संपत्ति के अधिग्रहण का उद्देश्य योजना दिशानिर्देशों और स्थानीय नियमों का पूरी तरह से पालन करते हुए इसे एक प्रमुख गोल्फिंग और स्पोर्टिंग रिसॉर्ट के रूप में बढ़ाना है। इस अधिग्रहण से समूह के तेजी से बढ़ते उपभोक्ता कारोबार में इजाफा होगा।

अंबानी परिवार के लंदन में रहने की खबर जैसे ही सामने आई तो सोशल मीडिया यूजर्स तरह तरह के रिएक्शन देने लगे। ट्विटर हैंडल @SANDIPANMITRA6 ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि पहले उन राजनीतिक दलों को फंड करो जिनकी नीतियां आपको समृद्ध करते हुए देश को और अधिक अंधेरे में धकेल दे और फिर जब चारों ओर अंधेरा शुरू हो जाए तो आप उसको छोड़ दें। बहुत अच्छा। इसके अलावा @kashsayz ने लिखा कि भारत में कमाओ और लंदन में खर्च करो।

वहीं के के भाटिया नाम के यूजर ने लिखा कि कुशासन? प्रशासन तो इनकी जेब में है। देख नहीं रहे हो महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख का हाल जिसने इनसे पंगा लेने की कोशिश की? जेल में सड़ रहा है। इसके अलावा ट्विटर हैंडल @IndiaInGraphics से लिखा गया कि वे लंदन में रहेंगे और भारत पर राज करेंगे। इसे उपनिवेशवाद नहीं कहा जाए तो और क्या कहा जाए ? वहीं एक यूजर ने यह भी लिखा कि लगता है कि तीसरा लहर आने वाला है। 

गौरतलब है कि रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन मुकेश अंबानी का कारोबार पेट्रोकेमिकल्स, तेल व गैस, टेलीकॉम और रिटेल में फैला हुआ है। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक मुकेश अंबानी 9490 करोड़ डॉलर (7.06 लाख करोड़ रुपये) की संपत्ति के मालिक हैं और वह दुनिया भर के अमीरों की सूची में 11वें स्थान पर हैं। अंबानी 100 करोड़ डॉलर नेटवर्थ वाले अमीरों की सूची में शामिल होने से कुछ ही दूर हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी को आरोपों की जांच करने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशSupreme Court, Army, Army shoot crowd, Delhi