ताज़ा खबर
 

फिर बेनकाब हुआ पाकिस्तान, नौगाम ऑपरेशन में मारे गए आतंकियों से मिला PAK ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में बना ग्रेनेड

पाकिस्तान एक बार फिर बेनकाब हुआ है। 6 अक्तूबर को कश्मीर के नौगाम में हुई घुसपैठ की घटना में पाकिस्तान के कनेक्शन होने का सबूत मिले हैं। सेना ने आतंकियों के पास जो हथियार और समान बरामद किए हैं वो पाकिस्तान में बने हुए हैं।
Author नई दिल्ली | October 8, 2016 18:12 pm
नौगाम में मारे गए आतंकियों के पास से बरामद हुआ पाकिस्तानी समान और हथियार (ANI Photo)

पाकिस्तान एक बार फिर बेनकाब हुआ है। 6 अक्तूबर को कश्मीर के नौगाम में हुई घुसपैठ की घटना में पाकिस्तान के कनेक्शन होने का सबूत मिले हैं। सेना ने आतंकियों के पास जो हथियार और समान बरामद किए हैं वो पाकिस्तान में बने हुए हैं। आतंकियों के पास से मिला ग्रेनेड पाकिस्तान की ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में बना हुआ है।

इंडियन आर्मी के नॉर्दर्न कमांड ने बताया कि बरामद सामान से पाकिस्तानी क्नेक्शन की पुष्टि हुई है। 6 अक्टूबर को नौगाम सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश कर रहे चार आतंकवादियों को सेना ने एलओसी पर मार गिराया था। मुठभेड़ में मार गिराए गए आतंकियों के पास से पाकिस्तान में बनी दवाएं और खाने का सामान बरामद हुआ। सेना के प्रवक्ता के मुताबिक आतंकियों के पास से पाकिस्तान की ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में बना हुआ हैंड ग्रेनेड और UBGL ग्रेनेड बरामद हुआ है। इसके अलावा आतंकियों के पास से अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थ, जिनमें 6 प्लास्टिक एक्सप्लोसिव स्लैब्स, 6 बोतल पेट्रोलियम जैली, 6 बोतल तरल ज्वलनशील पदार्थ और 6 लाइटर भी सीज किए गए थे।

वीडियो Speed News

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के नौगाम सेक्टर में 6 अक्टूबर को आतंकियों की ओर से सीमा पार से घुसपैठ की कोशिश की गई थी, जिसे नाकाम करते हुए सेना ने चार आतंकियों को ढेर कर दिया था। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से सुरक्षा एजेंसियों और सेना को अलर्ट कर दिया गया। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक आतंकी घुसपैठ की कोशिश में है। एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया है कि 100 के करीब आतंकियों को पीओके के आतंकी कैंपों के पास देखा गया है।

READ ALSO: पाकिस्तान की धमकी, बलूचिस्तान पर बोलना बंद करो वरना खालिस्तान और माओवादियों को करेंगे सपोर्ट

इससे पहले भारत की ओर से उरी हमले में पाकिस्तान क्नेक्शन सामने आने के बाद पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब किया गया था और उन्हें हमले से जुड़े कुछ सबूत भी दिए गए थे। विकास स्वरूप ने उन दो गाइड्स के बारे में भी बताया है जिन्होंने हमलावरों की भारत में घुसने में मदद की थी। विकास स्वरूप ने दोनों गाइड की डिलेट मीडिया से भी शेयर की। उन गाइड्स में से एक का नाम फैजल हुसैन है। वह 20 साल का है और उसके पिता का नाम गुल अकबर है। वह POK के पोथा जहानगींर, मुदफ्फराबाद में रहता है। दूसरे गाइड का नाम यासीन खुर्शीद है। वह 19 साल का है। वह मुजफ्फराबाद के खिलाना कलां में रहता है। भारत पहले भी पाकिस्तान पर आतंकवाद को समर्थन देने की बात कहता रहा है। हालांकि पाकिस्तान भारत के इस दावे को खारिज करता है। पठानकोट एयरबेस में हुए आतंकी हमले में भी आंतकी संगठऩ जैश-ए-मोहम्मद का नाम आया था।

READ ALSO: पाक सांसदों का नवाज शरीफ पर हमला, कहा- भारत ने पानी को हथियार बनाया, दुनिया में दोस्‍ती की, हमने क्‍या किया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.