ताज़ा खबर
 

पांच चरणों में जम्मू कश्मीर में 66 और झारखंड में 66.3 फीसद मतदान

जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव में पिछले 25 सालों के अंतराल में ऐतिहासिक और अभूतपूर्व मतदान रिकॉर्ड किया जहां पांच चरणों में 66 फीसद लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। शनिवार को अंतिम चरण में हाड़ कंपा देने वाली ठंड के बावजूद 76 फीसद मतदान रिकॉर्ड किया गया। झारखंड में भी विधानसभा चुनाव में […]

Author December 21, 2014 09:00 am
जम्मू में अंतिम चरण में 76 फीसदी और झारखंड में 71.26 फीसद मतदान रिकॉर्ड किया गया। (फ़ोटो-पीटीआई)

जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव में पिछले 25 सालों के अंतराल में ऐतिहासिक और अभूतपूर्व मतदान रिकॉर्ड किया जहां पांच चरणों में 66 फीसद लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। शनिवार को अंतिम चरण में हाड़ कंपा देने वाली ठंड के बावजूद 76 फीसद मतदान रिकॉर्ड किया गया।

झारखंड में भी विधानसभा चुनाव में भारी मतदान देखने को मिला जहां मतदान का कुल फीसद 66.3 रहा और शनिवार को अंतिम चरण में 71.26 फीसद लोगों ने मतदान किया। पच्चीस नवंबर से शुरू हुए पांच चरणीय मतदान के अंतिम दिन चुनाव उपायुक्त विनोद जुत्शी ने पत्रकारों को बताया कि जम्मू कश्मीर में 1987 के बाद पिछले 25 सालों में पहली बार सर्वाधिक मतदान हुआ। यह ऐतिहासिक और अभूतपूर्व मतदान था। चुनाव पूरी तरह शांतिपूर्ण और भागीदारी वाला रहा जहां मतदाताओं ने पूरे उत्साह के साथ मतदान में हिस्सा लिया।

जुत्शी ने बताया कि 1987 के बाद प्रदेश में जो भी चुनाव हुए उनमें मतदान का फीसद इस बार के मुकाबले कम रहा था। 2008 के विधानसभा चुनाव में मतदान फीसद 61.42 और 2002 में 43.09 फीसद था। 2004 के लोकसभा चुनाव में मतदान फीसद 35.20 फीसद, 2009 के आम चुनाव में 39.67 फीसद और 2014 के आम चुनाव में 50.23 फीसद मतदान हुआ था।

जुत्शी ने बताया कि जम्मू कश्मीर और झारखंड दोनों ही जगहों पर चुनाव से पूर्व या चुनाव के दिन कोई जनहानि नहीं हुई। जम्मू कश्मीर में पांचवें और अंतिम चरण के मतदान में तीन जिलों की 20 सीटों पर मतदान हुआ और 76 फीसद मतदान दर्ज किया गया।

आतंकवाद पीड़ित जम्मू कश्मीर राज्य में चौतरफा मुकाबला था जहां सत्तारूढ़ नेशनल कांफ्रेंस, मुख्य विपक्षी दल पीडीपी, भाजपा और कांग्रेस एक-दूसरे को पटखनी देने में लगे हुए थे। उप-मुख्यमंत्री ताराचंद और उनके चार कैबिनेट सहयोगियों समेत 312 उम्मीदवारों का भाग्य शनिवार को मतपेटियों में बंद हो गया।

साल 2000 में बिहार से अलग होने के बाद झारखंड ने भी पांच चरणों में कुल 66.03 फीसद मतदान के साथ मतदान के पिछले सभी रिकार्डों को तोड़ दिया। 2004 के राज्य विधानसभा चुनाव में 54.2 फीसद मतदान दर्ज किया गया था। चुनाव उपायुक्त उमेश सिन्हा ने बताया कि झारखंड में यह अब तक का सर्वाधिक मतदान है। अंतिम चरण में 71.26 फीसद मतदान दर्ज किया गया।

अंतिम चरण में दुमका और बरहैत से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, सारथ से विधानसभा अध्यक्ष शशांक शेखर भोक्ता और बोरियो से ग्रामीण कार्य मंत्री लोबिन हेमब्रोम मुख्य उम्मीदवार थे। जुत्शी ने 2014 को आयोग के लिए बेहद व्यस्त वर्ष बताया और विधानसभा और लोकसभा चुनाव का जिक्र करते हुए कहा कि चुनाव के इतिहास में कभी इतना अधिक मतदान नहीं हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App