दिल्ली में रेकॉर्ड तोड़ बारिश, पानी में फंसी बस से 40 यात्रियों को बचाया गया; इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा भी जलमग्न, तीन उड़ानें रद्द

हालांकि दिल्ली मेट्रो ने कहा कि राजधानी में शनिवार को मूसलाधार वर्षा के बावजूद उसकी सेवाएं प्रभावित नहीं हुई है।

delhi rains, new delhi, india news
दिल्ली में शनिवार को सड़कों और एयरपोर्ट में बारिश के बाद इस कदर पानी भर गया था। (फोटोः पीटीआई/एएनआई)

दिल्ली में शनिवार को हुई रेकॉर्ड तोड़ बारिश से राष्ट्रीय राजधानी समस्याओं की राजधानी बन गई। बारिश से हुए जलभराव में अंडरपास में एक बस फंस गई। यहां से दिल्ली अग्निशमन सेवा ने किसी तरह 40 यात्रियों को बचाया। जगह-जगह जलभराव होने से लोगों को मुसीबत का सामना करना पड़ा।

दिल्ली यातायात पुलिस ने भी ट्वीट कर लोगों को सूचित किया। वहीं, इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा भी जलमग्न हो गया। तेज बारिश की वजह से तीन उड़ानें भी रद्द करनी पड़ी। अग्निशमन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि मथुरा जा रही बस पालम फ्लाईओवर के अंडरपास पर जलभराव के कारण फंस गई। शनिवार सुबह साढ़े 11 बजे मदद मांगने के लिए आए एक फोन के बाद दमकल की दो गाड़ियों को मौके पर भेजा गया। विभाग के निदेशक अतुल गर्ग ने कहा कि सभी यात्रियों को सुरक्षित बचा लिया गया।

बाहरी दिल्ली के मुंडका में टेम्पो और ट्रक में जलजमाव की वजह से फंसे 18 अन्य यात्रियों को भी सुरक्षित निकाला गया। पुल प्रह्लादपुर रेलवे अंडरपास के नीचे करीब 5 से 6 फीट पानी भर गया, जिससे यहां की यातायात बाधित हुई। इस अंडरपास के नीचे एक ट्रक भी फंस गया। पानी में मोहन गार्डन थाना भी डूब गया। थाने के अंदर खड़ी गाड़ियों के साथ अन्य चीजें भी पानी में डूब गईं।

उधर, नगर निगमों के मुताबिक, मोती बाग, आरके पुरम, मधु विहार, हरि नगर, रोहतक रोड, बदरपुर, सोम विहार, आईपी स्टेशन के पास रिंग रोड, विकास मार्ग, संगम विहार, महरौली-बदरपुर रोड, पुल सहित शहर के कई इलाके प्रहलादपुर अंडरपास, मुनिरका, राजपुर खुर्द, नांगलोई और किराड़ी में जलभराव देखा गया। लोगों ने सोशल मीडिया पर सड़कों पर जलभराव की तस्वीरें और वीडियो साझा की। दिल्ली यातायात पुलिस ने भी लोगों को उन जगहों के बारे में सूचित करते हुए ट्वीट किए, जहां उन्हें जलभराव की आशंका है।

शिकायती नंबरों पर घनघनाती रहीं घंटियां
दिल्ली लोक निर्माण विभाग में दिनभर शिकायतों की घंटियां घनघनाती रही। हर घंटे पर औसतन 20 से अधिक शिकायत दर्ज हुई। बारिश के बाद आइटीओ, कनॉट प्लेस, इंडिया गेट, प्रगति मैदान, लोक निर्माण विभाग के मुख्यालय समेत आसपास के इलाकों में पानी भर गया। यहां जाम देखने को मिला।

विभाग के मुताबिक सुबह 8 बजे से लेकर शाम तीन बजे तक उनके पास करीब 150 शिकायतें आई। पीडब्लूडी और नगर निकाय की एजंसियों को शनिवार दोपहर डेढ़ बजे तक जलजमाव की 262 शिकायत मिली थीं। दिल्ली के नरेला इलाके में एक पुरानी इमारत गिर गई है। उत्तरी निगम ने इस इमारत को पहले ही खतरनाक ढांचा घोषित किया था। अग्निशमन सेवा को पश्चिमी दिल्ली के मायापुरी मेट्रो स्टेशन से एक महिला के कार में फंसे होने का कॉल आया था, जिन्हें टीम ने बचाया। दिल्ली में पेड़ गिरने की 10 घटनाएं सामने आई हैं।

पीडब्लूडी के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आइपी फ्लाईओवर से डब्लूएचओ बिल्डिंग के बीच रिंग रोड पर जलजमाव ‘भारी बारिश’ और जल बोर्ड की सीवर लाइन के ओवरफ्लो होने की वजह से हुआ है। दिल्ली मेट्रो ने कहा कि उसकी सेवाएं प्रभावित नहीं हुई है। एक वीडियो में मधु विहार में कुछ क्लस्टर बसों को पानी में खड़ा दिखाया गया।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट