ताज़ा खबर
 

वैक्सीन के लिए पहले ही दिन 1.33 करोड़ लोगों ने कर दिया रजिस्ट्रेशन, राज्यों ने खड़े कर दिए हाथ

बुधवार से 18 से 44 साल तक के लोगों के लिए भी वैक्सिनेशन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। एक दिन में ही 1.33 करोड़ लोगों ने रजिस्टर किया है।

corona vaccine, registrationकोलकाता के एक अस्पताल में वैक्सीन का इंतजार करते लोग। फोटो- पीटीआई

देशभर में कोरोना के बढ़ते मामलों और भयावह होती स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार ने वैक्सिनेशन बढ़ाने का फैसला किया। बुधवार से कोविन ऐप पर 18 से 44 साल तक के लोगों के लिए रजिस्ट्रेशन भी शुरू कर दिया गया। पहले तो लोग ऐप पर रजिस्ट्रेशन ही नहीं कर पा रहे थे। शाम 4 बजे के बाद जब रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ तो एक ही दिन में रिकॉर्ड 1.33 करोड़ लोगों ने टीका के लिए रजिस्ट्रेशन करवा दिया।

इतने ज्यादा लोगों का रजिस्ट्रेशन कुछ दिनों में सरकार के लिए परेशानी का कारण भी बन सकता है। पहले से ही राज्य सरकारें कहती रही हैं कि उनके पास वैक्सीन का पर्याप्त स्टॉक नहीं है। अस्पतालों से लोगों को निराश होकर वापस आना पड़ता था। एक दिन में 25 से 30 लाख लोगों का ही वैक्सिनेशन संभव हो पा रहा है।

AIIMS के एक डॉक्टर ने कहा कि समय से टीकाकरण करना भी एक बड़ी चुनौती होगा। लोगों को टीका लगवाने के बाद अपने काम पर भी लौटना होगा। ऐसे में इतना बड़ा अभियान आसान नहीं है। देश में लगभग 59 करोड़ की आबादी 18 से 44 साल के बीच की है। जब 60 साल से ऊपर वालों के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ था तो एक दिन में 25 लाख के करीब रजिस्ट्रेशन होते थे। इसके बाद दूसरे चरण में लोग बिना रजिस्ट्रेशन के भी टीका लगवाने आते थे।

अब तक कोविन पर 14.80 करोड़ रजिस्ट्रेशन हुए हैं। इनमें से केवल 2.91 करोड़ ऑनलाइन हुए हैं बाकी लोग सेंटर पर पहुंचकर ही रजिस्ट्रेशन करवा रहे थे। बहुत सारे राज्य पहले से ही वैक्सीन के स्टॉक को लेकर शिकायत कर रहे हैं। कई शहरों से रिपोर्ट मिली है कि 18 से 44 साल के लोगों को वैक्सिनेशन के लिए अपॉइनमेंट स्लॉट ही नहीं मिला। रांची में लोगों को दो हफ्ते बाद का नंबर मिला है। वहीं गुजरात, चंडीगढ़, दिल्ली, छत्तीसगढ़. पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, बिहार और असम के अस्पतालों ने 45 साल से नीचे वालों के लिए स्लॉट की कमी दिखाई है।

सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, हमने फैसला किया है कि प्राइवेट अस्पतालों को भी आगे लाना है जिससे की ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सिनेट किया जा सके। जब ज्यादा अस्पतालों में वैक्सिनेशन होगा तो इस समस्या का समाधान हो जाएगा। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य ने 25 लाख वैक्सीन का ऑर्डर किया है। भारत बायोटेक ने कहा है कि जुलाई तक वैक्सीन की इतनी सप्लाई की जा सकेगी। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य को एक हफ्ते में 40 लाख डोज की जरूरत होगी जो कि अभी केवल 7 लाख है।

Next Stories
1 18+ पंजीकरण शुरू होते ही ठप हो गया कोविन पोर्टल, शुरुआती तीन घंटे में 80 लाख पंजीकरण
2 चौबीस घंटे में कोरोना के मामले पौने चार लाख पार
3 कोरोना पर बोले बीजेपी प्रवक्ता, किसानों ने फैलाया कोरोना कहा- चुनाव कराना आयोग का दायित्व, सरकार से लेनादेना नहीं
आज का राशिफल
X