ताज़ा खबर
 

RBI पॉलिसीः रेपो रेट जस की तस, गवर्नर बोले- -7.5% रहेगी इस साल GDP ग्रोथ

दास के मुताबिक, आने वाले दिनों में RTGS व्यवस्था को 24 घंटे और सातों दिन के लिए कर दिया जाएगा, जबकि जनवरी 2021 से कॉन्टैक्टलेस कार्ड ट्रांजैक्शन की सीमा दो हजार रुपए से बढ़ाकर पांच हजार रुपए कर दी जाएगी।

Author Edited By अभिषेक गुप्ता नई दिल्ली/मुंबई | Updated: December 4, 2020 11:27 AM
rbi monetary policy, rbi monetary policy november 2020RBI गर्वनर शक्तिकांत दास। (Express Photo by Prashant Nadkar)

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने प्रमुख नीतिगत दर रेपो को 4 प्रतिशत पर बरकरार रखा है। आरबीआई ने मौद्रिक नीति में नरम रुख को बरकरार रखा है। साथ ही सर्दियों में महंगाई दर में कमी आने की उम्मीद जताई। रिज़र्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को आरबीआई मौद्रिक नीति बैठक के दौरान बताया, “मौद्रिक नीति समिति के सभी सदस्यों ने मुद्रास्फीति के उच्च स्तर को देखते हुए नीतिगत दर को यथावत रखने के पक्ष में निर्णय किया। हम सुनिश्चित करेंगे कि अर्थव्यवस्था में पर्याप्त नकदी उपलब्ध हो, जरूरत पड़ने पर आवश्यक कदम उठाएंगे।”

उन्होंने बताया कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में आर्थिक पुनरूद्धार के शुरूआती संकेत दिखे। MSF रेट और बैंक रेट बिना किसी बदलाव के साथ 4.25% है और रिवर्स रेपो रेट बिना किसी बदलाव के साथ 3.35% है। उन्होंने आगे बताया कि चालू वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था में 7.5 प्रतिशत गिरावट का अनुमान है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति तीसरी तिमाही में 6.8 प्रतिशत और चौथी तिमाही में 5.8 प्रतिशत रहने का अनुमान है। रिजर्व बैंक वित्तीय प्रणाली में जमाकर्ताओं का हित सुरक्षित रखने के लिये प्रतिबद्ध है।

बकौल गवर्नर, “अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार दिख रहा है और क्षेत्र भी सुधार की राह पर लौट रहे हैं। वित्तीय बाजार व्यवस्थित तरीके से काम कर रहे हैं।” रिजर्व बैंक ने कहा कि वाणिज्यिक बैंक 2019-20 के लिये लाभांश का भुगतान नहीं करेंगे। साथ ही वह वाणिज्यिक और सहकारी बैंक 2019-20 का मुनाफा अपने पास ही रखेगा और वित्त वर्ष के लिये किसी लाभांश का भी भुगतान नहीं करेगा। दास के मुताबिक, आने वाले दिनों में RTGS व्यवस्था को 24 घंटे और सातों दिन के लिए कर दिया जाएगा, जबकि जनवरी 2021 से कॉन्टैक्टलेस कार्ड ट्रांजैक्शन की सीमा दो हजार रुपए से बढ़ाकर पांच हजार रुपए कर दी जाएगी।

RBI के फैसलों से पहले Sensex 200 अंक से अधिक चढ़ाः आरबीआई की मौद्रिक नीति बैठक के नतीजों की घोषणा के चलते शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक से अधिक चढ़ गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 202.71 अंक यानी 0.45 प्रतिशत मजबूत होकर 44,835.36 अंक पर रहा। इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 66.10 अंक यानी 0.50 प्रतिशत की तेजी के साथ 13,200 अंक पर कारोबार कर रहा था। सेंसेक्स की कंपनियों में अल्ट्राटेक सीमेंट को सबसे ज्यादा करीब चार फीसदी का फायदा हुआ। इसके बाद एलएंडटी, एमएंडएम, मारुति, ओएनजीसी, भारती एयरटेल, पावरग्रिड और आईटीसी का स्थान रहा।

दूसरी ओर, एशियन पेंट्स, इन्फोसिस, रिलायंस इंडस्ट्रीज और टेक महिंद्रा के शेयर गिरावट में रहे। वहीं, गुरुवार को सेंसेक्स 14.61 अंक यानी 0.03 प्रतिशत बढ़कर 44,632.65 अंक पर और निफ्टी 20.15 अंक यानी 0.15 प्रतिशत बढ़कर 13,133.90 अंक के उच्च स्तर पर बंद हुआ था। शुरुआती आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) बृहस्पतिवार को शुद्ध खरीदार रहे। उन्होंने 3,637.42 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीदारी की। एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग, जापान का निक्की कारोबार के दौरान गिरावट में चल रहा था। दक्षिण कोरिया का कोस्पी बढ़त में रहा। (भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Cyclone Burevi, Weather HIGHLIGHTS: कमजोर पड़ा ‘बुरेवी’ चक्रवात, केरल के 7 जिलों में रेड अलर्ट हटा
2 सजायाफ्ता नेता पर न लगे ताउम्र चुनाव लड़ने पर रोक- केंद्र का कोर्ट में हलफनामा
3 किसी का बेटा सिंघु बॉर्डर पर कर रहा प्रदर्शन, तो किसी ने खुद खालिस्तानियों से लिया था मोर्चा, किसान आंदोलन का चेहरा बनकर उभरी ये महिलाएं
ये पढ़ा क्या?
X