ताज़ा खबर
 

नोटबंदी: 50 हजार से अधिक पैसे जमा करने के लिए PAN कार्ड जरूरी, RBI और IT की है कड़ी नजर

RBI के मुताबिक 50 हजार रुपये से ज्यादा कि रकम जमा कराने पर PAN की जानकारी देना अनिवार्य है और आयकर विभाग की भी खातों में जमा होने वाली राशि पर कड़ी नजर है।

Author मुंबई | Updated: November 17, 2016 10:14 AM
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) भारत के छह प्रमुख शहरों में ये सर्वे कराता है।

नोटबंदी के बाद बैकों खातों में जमा होने वाले पैसों पर आरबीआई की कड़ी निगरनी है। वहीं आरबीआई ने यह साफ कर दिया है कि जिन बैंक खातों में 50 हजार रुपये से ज्यादा कि रकम जमा की जाएगी उनपर उसकी कड़ी नजर रहेगी। 31 दिसंबर तक नोट बदलने की समय सीमा है और इसी बीच आयकर विभाग की बैकों में जमा होने वाले पैसों पर कड़ी नजर रहेगी।

आरबीआई ने यह जानकारी भी दी कि 50 हजार रुपये से ज्यादा की रकम जामा कराने के लिए पैन कार्ड की जानकारी देना अनिवार्य होगा। इसके अलावा सरकार ने भी बैंकों और डाक घरों को यह निर्देश भी दिए हैं कि वह बचत खातों में ढाई लाख रुपये से ज्यादा और करेंट खातों में 12 लाख रुपये से ज्यादा की राशि जमा कराने वालों के बारे में आयकर विभाग को जानकारी दें।

इसके अलावा को-ऑपरेटिव बैंकों को भी तय की गई रकम से ज्यादा की राशि जमा कराए जाने की स्थिति में आयकर विभाग को सूचित करना पड़ेगा। वित्त मंत्रालय ने भी बेंकिंग कंपनियों, को-ऑपरेटिव बैंकों और डाक घरों द्वारा दाखिल की जाने वाली सालाना इंफॉर्मेश रिटर्न रिपोर्ट के बार में नए निर्देश दिए हैं।

नए निर्देशों से पहले बैंक किसी एक खाते में साल भर में 10 लाख रुपये से ज्यादा की रकम जमा होने की ही जानकारी आयकर विभाग को दी जाती थी लेकिन अब इसमें बदलाव किए गए हैं। इसके अलावा जमा की गई रकम, खाता धारक के टैक्स रिटर्न से अधिक पाई जाती है तो 200% का जुर्माना भी लगेगा।

वीडियो: शीतकालीन सत्र: सीताराम येचुरी ने कहा- “2000 रुपए के नोट से भ्रष्टाचार दोगुना हो जाएगा”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आरबीआई के पूर्व गवर्नर डी सुब्बाराव ने बताए नोटबंदी के ये पांच फायदे
2 मैंने नहीं की विमुद्रीकरण की निंदा : अरुण शौरी
3 साइबर सुरक्षा में आपसी सहयोग बढ़ाएंगे इजराइल और भारत
जस्‍ट नाउ
X