ताज़ा खबर
 

RBI ने जारी किया 500 रुपए का नोट, इनसेट में लिखा “A”, पुराने पांच सौ की करेंसी चलती रहेगी

500 Rs new note: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मंगलवार को 500 रुपए के नए नोट जारी किए। 500 रुपए के नए नोटों में A लेटर शामिल किया गया है। केंद्रीय बैंक की ओर से जानकारी दी गई है कि पुराने नोट वैध रहेंगे।

Author नई दिल्ली। | June 14, 2017 13:24 pm
रिजर्व बैंक ने 500 रुपये के नोट जारी किए। (File Photo :IANS)

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मंगलवार को 500 रुपए के नोट का नया बैच जारी किया है। 500 रुपए के नोटों में “A” लेटर शामिल किया गया है। एएनआई के मुताबिक पुराने नोट वैध रहेंगे। आरबीआई के मुताबिक इनसेट में शामिल किया गया “A” लेटर रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर वाले दोनों नंबर पैनलों पर अंकित होगा। नोटों की छपाई का वर्ष 2017 होगा। इन नोटों का डिजाइन महात्मा गांधी (नई) सीरीज़ के 500 रुपए के नोटों के समान है। इनके फीचर्स में कोई और बदलाव नहीं किया गया है।

आरबीआई ने अपनी वेबसाइट पर दिए बयान में कहा, “महात्मा गांधी (नई) सीरीज वाले बैंकनोट्स का नया बैच जारी किया जा रहा है। इन नोटों के नंबर पैनल पर दोनों तरफ “A” लेटर इनसेट होगा। 500 रुपए के नए बैच के नोटों में आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर है। साथ ही प्रिंटिग का वर्ष 2017 है। इन नोटों का डिजाइन November 8, 2016 को नोटिफाई किए गए महात्मा गांधी के नई सीरीज वाले नोटों की तरह ही है।

बता दें कि 8 नवंबर को मोदी सरकार की ओर से नोटंबदी का ऐलान करते हुए पुराने 500 और 1000 रुपए के नोटों को बंद कर दिया गया था। इसके स्थान पर महात्मा गांधी सीरिज वाले 500 की नए नोट जारी किए गए थे। 500 के अलावा 2000 रुपए की करेंसी भी इश्यू की गई थी। आरबीआई की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक नोटबंदी के बाद जारी किए गए 500 रुपए नोट वैध रहेंगे।

सरकार ने पुराने नोटों को बंद करने की पीछे की वजह काले धन को कंट्रोल करना और फर्जी करेंसी को बाहर करना बताया था। बता दें कि पड़ोसी देशों की सीमा से कई बार नकली नोटों की खेप पकड़ी जा चुकी है। हालांकि नए नोट जारी होने के बाद भी फर्जी करेंसी (नए नोटों की फोटोकॉपी) और नोटों में गड़बड़ी की शिकायतें सामने आई थीं। फिलहाल इस तरह की शिकायतों में पहले की तुलना में काफी कमी देखने को मिली है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App